सौ से ज़्यादा लड़कियों के साथ असुरक्षित सेक्स का आरोप साबित

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption एरिक अनिवा

मलावी के एक एड्स पीड़ित नागरिक को 104 लड़कियों और महिलाओं के साथ असुरक्षित सेक्स करने के मामले में दोषी ठहराया गया है.

एरिक अनिवा परंपरा के नाम पर कम उम्र की लड़कियों और विधावाओं से सेक्स करता था.

मलावी के आदिवासी समुदाय में विधवाओं को शुद्धीकरण के लिए 'हायना' के साथ सेक्स करना अनिवार्य था. मलावी में सेक्स वर्कर को 'हायना' कहा जाता है.

एरिक अनिवा एक हायना था.

हालांकि कुछ साल पहले मलावी में 'विधवाओं के शुद्धीकरण के लिए सेक्स' करने की बाध्यता को ग़ैरक़ानूनी कर दिया गया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

बीबीसी के साथ इंटरव्यू में एरिक ने स्वीकार किया था कि उसने 100 से ज़्यादा नाबालिग लड़कियों और महिलाओं के साथ सेक्स किया है.

उसने यह भी कबूल किया था कि सेक्स के दौरान एचआईवी पॉज़िटिव होने की जानकारी उसने उन लड़कियों को नहीं दी थी. इस इंटरव्यू के बाद इसी साल जुलाई महीने में मलावी के राष्ट्रपति ने एरिक की गिरफ़्तारी का आदेश दिया था.

मलावी के राष्ट्रपति पीटर मुथारिका चाहते थे कि एरिक पर नाबालिगों को अवपित्र करने का मामला चले लेकिन इस मामले में किसी ने सामने की हिम्मत नहीं जुटाई थी.

इसके बाद अनिवा को संस्कृति को दूषित करने वाली हरकत के मामले में पकड़ा गया. उस पर विधवा महिलाओं से सेक्स करने को लेकर मलावी के लैंगिक समानता क़ानून के तहत में मामला दर्ज किया गया था. इस मामले में दो महिलाओं ने उसके ख़िलाफ़ गवाही दी थी.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कोर्ट के बाहर एरिक अनिवा

एरिक अनिवा को इस मामले में 22 नवंबर को सज़ा सुनाई जाएगी. बीबीसी के दक्षिण अफ्रीकी संवाददाता करेन एलेन ने कहा कि इस ख़बर के कारण मलावी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में रहा.

मलावी में 'यौन शुद्धीकरण' को लेकर अब भी इस तरह के रिवाज माने जाते हैं.

हलांकि वहां की सरकार इस दिशा में सुधार के प्रयास कर रही है. पिछले साल ही सरकार ने बाल विवाह को प्रतिबंधित किया था.

यहां शादी की उम्र 15 से बढ़ाकर 18 कर दी गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)