सीरिया में 10 लाख लोग सेना के घेरे में

इमेज कॉपीरइट Reuters

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि सीरिया में बंधक की तरह रह रहे लोगों की संख्या इस साल बढ़ कर करीब दोगुनी यानी दस लाख हो गई है.

आपातकालीन राहत संयोजक स्टीफन ओ ब्रायन ने कहा है कि फंसे हुए लोगों का आंकड़ा छह महीने में 4,86,700 से बढ़कर 9,74,080 हो गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

स्टीफन ओ ब्रायन का कहना है, लोगों को "अलग थलग, भूखा, बमबारी के साये में, मेडिकल और मानवीय सहायता से वंचित रखा गया है ताकि या तो वो भाग जाएं या फिर समर्पण कर दें."

संयुक्त राष्ट्र के इस अधिकारी ने ध्यान दिलाया है कि "क्रूरता की सोची समझी रणनीति" प्रमुख रूप से राष्ट्रपति बशर अल असद के नेतृत्व वाली सेनाएं इस्तेमाल कर रही हैं.

स्टीफन ओ ब्रायन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा है, "जिन लोगों ने घेराबंदी कर रखी है वो जानते हैं कि परिषद इन लोगों को रोकने के लिए कदम उठाने की या तो अपनी इच्छा को लागू करने में अक्षम है या फिर ऐसा करना ही नहीं चाहती"

घेराबंदी के दायरे में आने वाले नए इलाकों में विद्रोहियों के कब्जे वाले दमिश्क के उपनगर जोबार, हजार अल असवाद और खान अल शिह शामिल हैं.

इसके साथ ही राजधानी के बाहर पूर्वी घोउटा के खेती वाले इलाके की भी घेराबंदी हो गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)