कोलंबिया सरकार और फार्क विद्रोहियों के बीच नया समझौता

इमेज कॉपीरइट AFP

कोलंबिया सरकार और देश के सबसे बड़े विद्रोही ग्रुप फ़ार्क के बीच संशोधित शांति समझौते पर हस्ताक्षर हो गए हैं.

इससे पहले हुए समझौते को दो अक्तूबर को एक जनमत संग्रह में में कोलंबिया की जनता ने खारिज कर दिया था.

तब जनता के दिए सुझावों को नए समझौते में शामिल किया गया था. हालांकि इस संशोधित समझौते को जनमत संग्रह के बजाय कांग्रेस के पास मंजूरी के लिए भेज दिया गया है.

इस समझौते के बाद पांच दशक से चले आ रहे सशस्त्र संघर्ष पर विराम लग जाएगा. इस संघर्ष में दो लाख 60 हज़ार लोग मारे जा चुके हैं. इसके साथ ही लाखों लोगों को विस्थापित होना पड़ा है.

राजधानी बोगोटा में एक सादे समारोह में इस संशोधित समझौते को मंज़ूरी दी गई.

इसके बाद इस समझौते को कांग्रेस के पास भेज दिया गया. 26 सितंबर को जिस तड़क-भड़क के साथ पुराने समझौते पर हस्ताक्षर किए गए था उसके मुक़ाबले इस बार जानबूझकर सादे समारोह में इस समझौते को अंतिम रूप दिया गया.

इस समारोह में राज्य के क्षेत्रीय प्रमुख और संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव बान की-मून भी शरीक हुए.

गुरुवार को कोलोन थियेटर में आयोजित इस समारोह में 800 लोगों को आमंत्रित किया गया था जबकि पिछले समारोह में 2,500 लोग बुलाए गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)