'कास्त्रो को अमरीका कभी भूल नहीं पाएगा'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
अमरीका के लिए फ़िदेल कास्त्रो का जाना

फ़िदेल कास्त्रो को अमरीका खराब संबंधों के लिए हमेशा याद करेगा. अमरीका के फ्लोरिडा में क्यूबा से आए लोग भले ही खुशी मना रहे हों, लेकिन अमरीका में भी दो तरह के लोग हैं.

बहुत लोग ये भी सोचते हैं कि कास्त्रो ने क्यूबा में काफी अच्छा काम किया- खासकर मेडिकल और शिक्षा के क्षेत्र में कास्त्रो के काम को लोग याद करते हैं.

पढ़ें: फ़िदेल कास्त्रो से जुड़ीं नौ अहम बातें

पढ़ें: कास्त्रो ने झुकने नहीं दिया लाल झंडा

पढ़ें: कास्त्रो की कहानी तस्वीरों की ज़बानी

पढ़ें: नेहरू का एहसान नहीं भूल पाए कास्त्रो

हालांकि सोवियत यूनियन से क्यूबा के संबंध में गर्माहट कम हुई तो वहां की आर्थिक स्थिति बिगड़ती ही गई. मैं 400 के करीब वकीलों, जजों और लॉ प्रोफ़ेसरों को लेकर क्यूबा गया था. मैं उस समय वर्ल्ड यहूदी असोसिएशन का अध्यक्ष था. तब क्यूबा की अर्थव्यवस्था बहुत बदतर थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ़िदेल कास्त्रो को कैसे याद करेगा अमरीका?

राष्ट्रपति ओबामा के क्यूबा के साथ नए सिरे से संबंधों की शुरुआत में कास्त्रो के छोटे भाई ने भी खासी मदद की.

दोनों के बीच अच्छे संबंध बने थे. अब ट्रंप के आने के बाद यह संबंध कैसे होंगे, फिलहाल किसी को पता नहीं है.

हालांकि एक बात ज़रूर कही जा सकती है कि अमरीका के साथ जो संबंध शुरू हुए हैं वो एकदम से खत्म नहीं हो सकते.

ट्रंप के आने के बाद भी वो आगे बढ़ेंगे. क्यूबा मे निजीकरण, आर्थित बदलाव और राजनीतिक छूट कितनी होगी यह कहना कठिन है लेकिन रिफॉर्म का जो काम शुरू हुआ है वो खत्म नहीं होगा.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पोप जॉन पॉल 2 के साथ फ़िदेल कास्त्रो

फ़िदेल कास्त्रो अमरीका विरोध के अलावा इस बात के लिए भी याद किए जाएंगे कि उन्होंने बहादुरी दिखाते हुए से बतिस्ता शासन को खत्म किया. उन्होंने क्यूबा में क्रांति की और एक क्रांतिकारी नेता बने.

उन्होंने तीसरी दुनिया के देशों को जोड़ा. अफ्रीकी देशों की उन्होंने काफी मदद की. इन देशों में उन्होंने मेडिकल मदद पहुंचाई.

इन मुल्कों में कास्त्रो को लोग हीरो मानते हैं. इनके लिए कास्त्रो अब भी हीरो हैं. वह केवल अमरीका विरोध के कारण ही नहीं बल्कि एक क्रांतिकारी के रूप में भी जाने जाएंगे.

(बीबीसी संवाददाता वात्सल्य राय से बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे