वो राष्ट्रपति जो 22 साल बाद हारा

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption गांबिया के राष्ट्रपति याह्या जमेह को मिली हार ने सबको चौंकाया.

22 साल तक अफ़्रीकी देश गांबिया के राष्ट्रपति रहे याह्या जमेह को राष्ट्रपति चुनाव में चौंकाने वाली हार मिली है.

उनकी हार बाद गांबिया की राजधानी बानजुल में जश्न मनाने के लिए सड़कों पर उतरे लोगों ने 'हम आज़ाद हैं, हम अब गुलाम नहीं' के नारे लगाए.

उन्हें राष्ट्रपति चुनाव में एडेमा बैरो ने हाराया जो कि एक प्रॉपर्टी डेवेलपर हैं.

एडेमा बैरो को चुनाव में 45 फ़ीसदी से ज़्यादा वोट मिले हैं.

1994 में याह्या जमेह सत्तापलट के बाद राष्ट्रपति बने थे.

एडेमा बैरो ने जीत के बाद कहा कि ये नए गांबिया की शुरुआत है और याह्या जमेह ने उन्हें फ़ोन कर अपनी हार स्वीकार कर ली है.

1965 में आज़ादी मिलने के बाद गांबिया में सत्ता का हस्तांतरण कभी भी शांतिपूर्ण तरीके से नहीं हो पाया.

चुनाव आयोग के अध्यक्ष अल्यू मोमप न्जिए ने चुनाव के इस नतीजे के बाद शांति बनाए रखने की अपील की है.

चुनाव आयोग के मुताबिक गुरुवार को हुए चुनाव में एडेमा बैरो को 2,63,515 वोट मिले वहीं राष्ट्रपति याह्या जमेह को 2,12,099 वोट मिले हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption गांबिया में बैलट पेपर से नहीं बल्कि कंचों से वोटिंग होती है.

चुनाव आयोग के अध्यक्ष अल्यू मोमप न्जिए ने कहा, '' कई लोगों को दुख होगा, कुछ लोगों को खुशी होगी लेकिन हम से गांबिया के ही हैं.''

एडेमा बैरो 1965 में पैदा हुए थे और साल 2000 के बाद लंदन चले गए जहां उन्होंने रियल एस्टेट की पढ़ाई की.

2006 में गांबिया लौटकर उन्होंने अपनी रियल एस्टेट कंपनी स्थापित की.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption एडेमा बैरो ने राष्ट्रपति याह्या जमेह को हराया.

51 साल के एडेमा बैरो 2016 में विपक्ष की सात पार्टियों के गठबंधन के उम्मीदवार चुने गए.

राष्ट्रपति जमेह पर मानवाधिकार कार्यकर्ता मीडिया, विपक्ष और समलैंगिकों के दमन के आरोप लगाते रहे हैं.

2014 में उन्होंने समलैंगिकों को कीड़ा मकोड़ा कहा था और उन्हें मलेरिया के मच्छरों की तरह मिटाने की बात कही थी.

अपने अजीब बयानों को लेकर भी वो चर्चा में रहे हैं, एक बार उन्होंने कहा था कि अगर अल्लाह चाहे तो वो एक अरब साल तक शासन कर सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)