'रोहिंग्या मुसलमानों का खात्मा रोके म्यांमार'

इमेज कॉपीरइट AFP

मलेशिया के विदेश मंत्रालय ने म्यांमार में अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुसलमानों के जातीय संहार की कड़े शब्दों में निंदा की है.

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक इस बयान में कहा गया है कि रोहिंग्या मुसलमानों की हत्याओं को तुरंत बंद किया जाना चाहिए. बयान में कहा गया है कि दक्षिण पूर्व एशिया के कई देशों में रोहिंग्या मुसलमान रहते हैं और ऐसी घटनाओं से क्षेत्र की शांति और स्थिरता को खतरा पैदा हो रहा है.

मलेशिया का कहना है कि उसने रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा मजहबी नज़रिए से नहीं, बल्कि मानवीय नज़रिए से उठाया है.

'रोहिंग्या मुस्लिमों का ख़ात्मा चाहता है म्यांमार'

रोहिंग्या मुसलमानों का दर्द, जानें सबकुछ

रोहिंग्या मुसलमानों के साथ भेदभाव

इमेज कॉपीरइट Reuters

मलेशिया के विदेश मंत्रालय के इस बयान से इन दोनों देशों के बीच कूटनीतिक दरार और गहरी हो गई है.

म्यांमार से भाग रहे सैकड़ों रोहिंग्या मुसलमान

म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर गोलीबारी

मलेशिया के प्रधानमंत्री नज़ीब रज़ाक के रविवार को क्वालालम्पुर में रोहिंग्या मुसलमानों की एकता रैली में शामिल होने की उम्मीद की जा रही है.

उधर, म्यांमार का कहना है कि मलेशिया को उसके आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)