फ़ेसबुक पर राजा का प्रोफ़ाइल साझा करने पर गिरफ़्तारी

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption थाईलैंड सरकार का विरोध करने वाले जातूपात बूनपात्ताराराकसा

थाईलैंड में सेना समर्थित सरकार के एक विरोधी जातूपात बूनपात्ताराराक्सा को गिरफ़्तार किया गया है. उनकी गिरफ़्तारी राजगद्दी पर बैठे नए राजा माहा वाजिरालोंगकॉर्न की फ़ेसबुक प्रोफाइल साझा करने के बाद हुई है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption थाईलैंड के राजा पूमीपोन अदून्यदेत (फाइल फोटो)

उन्होंने बीबीसी थाई में प्रकाशित नए राजा की प्रोफाइल को अपने फ़ेसबुक पेज पर साझा किया था. उन पर कड़े शाही मानहानि क़ानून के तहत राजतंत्र का अपमान करने का आरोप लगाया गया है.

जातूपात बूनपात्ताराराक्सा को उत्तर-पूर्वी थाईलैंड में गिरफ़्तार किया गया.

थाईलैंड के युवराज माहा वाजीरालोंग्कोर्न नए राजा घोषित

थाईलैंड: सालभर तक नहीं होगा राज्याभिषेक

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption राज्याभिषेक के दौरान युवराज अपने दिवंगत पिता को श्रद्धांजलि देते हुए (फाइल फोटो)

ये कार्यकर्ता पहले भी सरकार के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शनों में शामिल रहा है.

अगर जातूपात का जुर्म साबित होता है तो उसे 15 साल तक की जेल की सज़ा हो सकती है.

अपने पिता की मौत के लगभग दो महीने बाद राजा माहा वाजिरालोंगकॉर्न गुरूवार को राजगद्दी पर बैठे है.

थाईलैंड के राजा को श्रद्धांजलि देने सड़कों पर उमड़ी भीड़

सत्तर साल राज करने वाले किंग पूमीपोन

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राजा माहा वाजिरालोंगकॉर्न

माना जा रहा है कि 64 वर्षीय राजा माहा वाजिरालोंगकॉर्न के आधिकारिक तौर पर राजकाज संभालने के बाद जातूपात पहले व्यक्ति है जिन पर राजशाही के अपमान का अभियोग लगाया गया है.

मानवाधिकार समूहों का आरोप है कि सेना समर्थित सरकार शाही मानहानि क़ानून का इस्तेमाल अपने विरोधियों के ख़िलाफ़ कर रही है.

राजा माहा वाजिरालोंगकॉर्न के पिता परम सम्मानित राजा पूमीपोन अदून्यदेत की 88 साल में सात दशकों तक राजगद्दी संभालने के बाद 13 अक्तूबर को मौत हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)