#100Women: यौन अपराधियों का इलाज करने वाली डॉक्टर

इमेज कॉपीरइट Erin Sweeny

मनोवैज्ञानिक एरीन स्वीनि को यौन अपराधियों का इलाज करते हुए 20 साल से ज्यादा हो चुके हैं.

उनका कहना है कि हर शख़्स के व्यवहार पर अलग से गौर किया जाना और यह समझने की कोशिश करना अहम है कि किसी ने कोई यौन अपराध क्यों किया है.

पढ़िए ऐसे अपराधियों के इलाज के दौरान डॉक्टर एरीन स्वीनि के अनुभव उनकी ज़ुबानी

मुझे यौन अपराधियों के इलाज के दौरान उस इंसानी व्यवहार के बारे में पता चला जो आंखे खोलने वाला है.

#100Women: ट्रांसजेंडर होने के दंश से लड़ती वैजयंती

#100Women: 'जिस योनि से जन्मे, उसी पर चुप्पी क्यों?'

#100Women: माहवारी के दौरान छुट्टी क्यों?

कई बातें ऐसे अपराधियों में अलग-अलग होती हैं लेकिन एक चीज है जो सभी यौन अपराधियों में एक जैसी है और वो है दुख भरा बचपन.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
13 साल की बलात्कार पीड़िता की कहानी जिसने अपने बच्चे को गोद देने से इंकार किया.

आमतौर पर इन अपराधियों का बचपन उत्पीड़न, अवहेलना और मां-बाप के बिना गुजरा होता है.

आम तौर पर बचपन में उनका लगाव अपनी मां से होता है और यही बाहरी दुनिया और औरतों के प्रति उनके नज़रिए को प्रभावित करता है.

इनमें से कई अपराधी सेक्स करने को और महिलाओं पर अपना पूरा हक़ समझते हैं. कइयों को तो महिलाओं के साथ करीबी रिश्ता बनाने में परेशानी होती है हालांकि वो महिलाओं के नज़दीक जाना चाहते हैं.

#100Women : किसी को नहीं दूंगी अपना बच्चा

'कई लोग महिलाओं को काम करते देख ही नहीं सकते'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
गुल पनाग बता रही हैं कि महिलाओं के मुद्दे पर उनकी क्या सोच है.

कइयों को भावनात्मक समस्या होती है. सिर्फ़ गुस्सा एक ऐसी चीज़ है जो वो जब चाहे निकाल लेते हैं. इनमें से कई बदले की भावना से ग्रसित होते हैं. ऐसे लोग जीवन के हर क्षेत्र से आते हैं.

मुझे ऐसे किसी भी अपने क्लाइंट के जीवन के बारे में पहले जानने की जरूरत पड़ती है. फिर उनके साथ जाकर एक ऐसा रिश्ता कायम होता जब मैं उनका इलाज कर पाऊं.

मुझे उनके प्रति सहानुभूति वाला रवैया अपनाना पड़ता है. हालांकि कुछ के साथ ऐसा करना बहुत मुश्किल भरा होता है.

मैं उनकी सोच, भावनाएं और उनके व्यवहार का पूरा ब्यौरा बारीकी से लेती हूं ताकि उन्होंने जो अपराध किया है उसके सही वजह तक पहुंच पाऊं.

इमेज कॉपीरइट Erin Sweeny

या फिर मैं संबंध बनाने के दौरान जताई गए असहमति, सेक्स एजुकेशन और अंतरंगता होने में आनी वाली परेशानियों को समझने की कोशिश करती हूं.

मीडिया जिस तरह से सेक्स और महिलाओं को एक चीज के तौर पर पेश करती है, उससे सेक्स से जुड़े अपराधों के बहुत सारे जवाब मिलते हैं.

ख़ासकर म्युज़िक वीडियो में महिलाओं को जिसतरह से पेश किया जाता है, वो कम उम्र के बच्चों में उत्तेजक भावनाएं पैदा करती हैं.

आप महिला हैं तो क्या हुआ: गुल पनाग

#100Women: लड़की का 'नहीं', मतलब 'नहीं'

अगर किसी नौजवान का अतीत मानसिक परेशानियों से भरा हो और वो ख़ुद को हिंसक सोच और उत्तेजना पैदा करने वाली तस्वीरों और वीडियो के साथ जोड़ने लगता है तब यह उसकी विकृत सोच और मजबूत बना देता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मैंने एक ऐसे शख़्स का इलाज किया था जिसने एक महिला के पार्टनर के सामने ही उसके साथ बलात्कार किया था और फिर दोनों को किसी जंगली जानवर की तरह मारा था.

वो देखने में एक आम इंसान की तरह था. अच्छा दिखता था. बातचीत करने में भी सामान्य था लेकिन अंदर से वो काफी परेशान था. उसके मन में हिंसा और बदले की भावना हमेशा चलती रहती थी.

दूसरों ने जो कुछ उसके साथ किया था, उसे लेकर उसके मन में बहुत गुस्सा भरा हुआ था. वो हिंसक कल्पनाएं करके भी उत्तेजित हो जाता था. जब वो शराब पीता था तब वह और हिंसक हो जाता था.

......वो बलात्कार समर्थक हैं

'ख़ामोशी बलात्कार की माँ है'

ऐसे लोग अपने आसपास के लोगों के लिए बहुत ख़तरनाक हो सकते हैं. वे दूसरों के साथ किस हद तक जा सकते हैं, इसका अनुमान नहीं लगाया जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

लेकिन मैं ऐसे लोगों के व्यवहार और एक इंसान के तौर पर उन्हें अलग-अलग कर के देखती हूं.

मैं हमेशा उनके अंदर कुछ ऐसी चीज देखने की कोशिश करती हूं जिस पर ध्यान देकर उन्हें उनकी मानसिक परेशानी से छुटकारा दिलाई जा सके.

कभी-कभी यह बहुत मुश्किल भरा काम होता है. कभी-कभी वो आपके साथ भी कुछ आपत्तिजनक करने की कोशिश कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

मैं मानती हूं कि कई बार मेरे मन में उनके साथ कुछ भयावह करने का ख़्याल आया.

जब आप हर रोज़ इस तरह के अपराधियों के मनोविज्ञान पर काम कर रहे होते हैं तो आपके लिए सेक्स के मायने बदल जाते हैं.

लेकिन चूंकि जब मैंने पहली बार इन मरीजों पर काम करना शुरू किया तब मैं शादीशुदा थी. हो सकता है कि इससे शायद मुझे थोड़ी मदद मिली हो.

मैं अपने पति के बहुत नजदीक थी और उनके साथ इस तरह के सभी मामलों पर बात करती थी. (बिना कोई बहुत महत्वपूर्ण जानकारी दिए.)

शादीशुदा ज़िंदगी में क्या है क्रूरता

क्या रेप जितनी बड़ी समस्या है 'डोमेस्टिक वायलेंस'?

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

इसलिए वो मेरे ऊपर पड़ने वाले असर से वाकिफ थे. मैं महिलाओं को किसी भी जोखिम भरे हालात में देखकर चौकन्नी हो जाती थी. बच्चों के साथ कोई बात कर रहा होता था तो मेरे कान खड़े हो जाते थे.

निश्चित तौर पर इसने मेरे व्यवहार को बदल दिया था.

लेकिन तब हालात बहुत मुश्किल होते हैं जब आप किसी बलात्कारी के बारे में चारों ओर से ये सुनते हैं कि "मारों उसे, बंद कर दो उसे ज़िंदगी भर के लिए."

जब आप यह जानते हैं कि लोग उनसे नफरत करते हैं. ऐसे हालात में आप अपने काम के बारे में अपने दोस्तों से भी नहीं बात कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

लेकिन शोध ये बताते हैं कि अगर सही तरीके से ऐसे लोगों का इलाज किया जाए तो वे सुधर सकते हैं और फिर ऐसे लोग दोबारा से यौन अपराध नहीं करते हैं.

जबकि ज्यादातर लोगों को लगता है कि वो दोबारा से ऐसा करेंगे.

मेरा मानना है कि एक मुकाम पर आकर हर शख़्स सुधरता है. कुछ लोगों के लिए सुधरना थोड़ा मुश्किल होता है.

मैंने ऐसे लोगों को देखा है जो एक दिन इससे बाहर आकर सामान्य ज़िंदगी जी रहे हैं. हमेशा किसी के यौन अपराधी बनने के पीछे कुछ वजहें और घटनाएं होती हैं इसलिए अगर वो चाहे तो उन्हें ठीक किया जा सकता है और वो एक बेहतर ज़िंदगी जी सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

कोई ज़रूरी नहीं है जिन सभी मर्दों के ऊपर मैं काम कर रही हूं, वो जरूरी बदलावों के लिए तैयार ही हो. कुछ तो काफी ख़तरनाक और नुकसान पहुंचाने वाले भी हैं.

हमारे पास सभी सवालों के जवाब नहीं हैं लेकिन फिर भी मैं उनके साथ काम करती रहूंगी ताकि मैं दूसरों को सुरक्षित रख सकूं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे