नौ दिनों तक भूख से तड़पते बच्चे की मौत

इमेज कॉपीरइट VLADISLAVA PODCHAPKO VK
Image caption व्लादिस्लावा पोदचाप्को

यूक्रेन में एक 20 साल की महिला ने कथित तौर पर नौ दिनों के लिए अपने फ़्लैट में अपने दो छोटे-छोटे बच्चों को अकेला छोड़ दिया.

इनमें से एक बच्चे की भूख से मौत हो गई है.

पुलिस इस मामले में महिला से पूछताछ कर रही है.

यूक्रेन की राजधानी कीएव में एक अधिकारी के मुताबिक़ व्लादिस्लावा पोदचाप्को अपने प्रेमी के घर गईं तो अपने बच्चों के लिए कोई खाना नहीं छोड़ गईं.

उनके एक साल 11 महीने के बेटे की भूख से तीन दिसंबर को मौत हो गई.

वहीं क़रीब तीन साल की आन्या अपने भाई के शव के साथ तीन दिन तक फ़्लैट में रही.

इस मामले के सामने आने के बाद यूक्रेन में सोशल मीडिया पर हंगामा मचा है और बाल अधिकारों पर यूक्रेन के राष्ट्रपति के सलाहकार माइकोला कुलेबा ने फ़ेसबुक पर इस बारे में ज़्यादा जानकारियां दीं.

आन्या का अभी अस्पताल के आईसीयू में इलाज चल रहा है.

इमेज कॉपीरइट MYKOLA KULEBA
Image caption इसी फ़्लैट में दोनों बच्चों को नौ दिन के लिए अकेले छोड़ा गया था.

डॉक्टरों का कहना है कि वो फ़्लैट में बेहोश पड़ी हुई थी.

माइकोला कुलेबा ने बताया कि पोदचाप्को ने बच्चों के लिए बस कुछ चॉकलेट छोड़े थे. बताया जा रहा है कि बाहर निकलने के लिए बच्चों ने फ़्लैट के दरवाज़े के पास लिनोलियम के फ़र्श को हटाने की कोशिश की थी.

पुलिस का कहना है कि उन्हें फ़्लैट में नहीं बुलाया गया था, हो सकता है कि इसकी जानकारी शायद व्लादिस्लावा ने ख़ुद दी थी.

पोदचाप्को फ़ेसबुक के रूसी संस्करण 'वीकॉन्टैक्ट' पर अपने प्रेमी को अपना पति बताती हैं, और माना जा रहा है कि वही इन दो बच्चों के पिता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)