अमरीकी चुनाव: 'रूसी हैकिंग' की समीक्षा होगी

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने राष्ट्रपति चुनावों के दौरान साइबर हमलों के मामले की समीक्षा के आदेश दिए हैं.

चुनावों के दौरान साइबर हमलों का मामला जोर शोर से उठा था और इसके पीछे रूस का नाम भी आया था.

इन हमलों में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के ईमेल्स सार्वजनिक कर दिए गए थे.

इमेज कॉपीरइट AP

अक्तूबर महीने में अमरीकी अधिकारियों ने इसके पीछे रूस का हाथ होने के संकेत दिए थे और कहा था कि रूस अमरीकी चुनावों में हस्तक्षेप कर रहा है.

रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार और निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने इन संकेतों को खारिज किया था.

इस हफ्ते ट्रंप ने टाइम पत्रिका से बातचीत करते हुए कहा, ''मुझे नहीं लगता कि रूस ने हस्तक्षेप किया था. मैं इस बात पर यकीन नहीं करता.''

रूस के अधिकारियों ने भी इन आरोपों को खारिज किया है.

हालांकि चुनाव प्रचार के दौरान एक बार ट्रंप ने यहां तक कहा था कि रूस को हिलेरी क्लिंटन के मेल खोजने चाहिए. हालांकि बाद में ट्रंप ने कहा कि वो तंज कस रहे थे.

डेमोक्रेट पार्टी का कहना है कि रूस की तरफ से ईमेल्स की हैकिंग हिलेरी के अभियान को धक्का पहुंचाने की साज़िश थी.

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता एरिक शुल्टज़ का कहना था, ''राष्ट्रपति इस मुद्दे को गंभीरता से ले रहे हैं इसलिए वो चाहते हैं कि उनका कार्यकाल खत्म होने से पहले ही मामले की समीक्षा पूरी हो.''

अभी ये साफ नहीं है कि समीक्षा के जो परिणाम आएंगे वो सार्वजनिक किए जाएंगे या नहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे