'वन-चाइना पॉलिसी' के बारे में ट्रंप का बड़ा बयान

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप का कहना है कि अमरीका को 'वन-चाइना' पॉलिसी से बंधकर नहीं रहना चाहिए.

ट्रंप ने ये बात फॉक्स न्यूज़ को दिए एक साक्षात्कार में कही है और उनका ये बयान चीन को नागवार गुजर सकता है.

चीन और

पढ़ें- नज़रिया: 'ट्रंप को अभी अपनी विदेश नीति भी पता नहीं है'

पढ़ें- 'ट्रंप को बढ़ाने के लिए रूस ने दिया दख़ल'

पढ़ें- 'रूसी हैकिंग' की समीक्षा होगी

ट्रंप राष्ट्रपति निर्वाचित होने के बाद ताइवान की राष्ट्रपति से फोन पर बात भी कर चुके हैं जिस पर चीन ने नाराज़गी ज़ाहिर की थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

ट्रंप की पहल ये है कि चीन के साथ नीति व्यापार जैसी बातों पर भी आधारित हो सकती है.

'वन-चाइना' एग्रीमेंट के तहत अमरीका मानता रहा है कि ताइवान चीन का ही हिस्सा है और इस नीति को चीन-अमरीका संबंधों की बुनियाद माना जाता है.

फॉक्स न्यूज़ को दिए इसी साक्षात्कार में ट्रंप ने उन ख़बरों को ख़ारिज कर दिया है जिनमें ख़ुफिया एजेंसी सीआईए के हवाले से कहा गया है कि रूस ने अमरीकी राष्ट्रपति का चुनाव जीतने के लिए ट्रंप की मदद की थी.

ट्रंप ने कहा है कि वे इस तरह की ख़बरों पर भरोसा नहीं करते हैं. ट्रंप का कहना है कि उनके डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रतिद्वंद्वी अपनी हार के लिए बहाने तलाश रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे