'बच्चों से झूठ बोलकर जिस्म बेचने में मुझे शर्म नहीं'

सेक्स इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES/CHRISTOPHER FURLONG

ब्रिटेन में काफी संख्या में माताएं भी सेक्स वर्कर्स हैं. आख़िर ये माताएं अपने बच्चों की मौजूदगी में जिस्म कैसे बेच रही हैं?

इंग्लैंड के एसेक्स से 42 साल की शेरी बताती हैं, ''निश्चित रूप से मुझे ऐसा करने में कोई शर्म नहीं है. हमें इसमें सम्मान नहीं मिलता है और इसे लेकर मैं गुस्से में हूँ.''

शेरी पिछले दो दशकों से पुरुषों के साथ सेक्स का सौदा कर रही हैं. वह कोठों और एस्कॉर्ट एजेंसियों के साथ काम करती हैं. लेकिन कई लोगों के लिए यह एक राज़ है कि उनका 12 साल का एक बेटा भी है.

पढ़ें: 'सेक्स के बाज़ार' में नोटबंदी से पसरा सन्नाटा

शेरी की दोहरी ज़िंदगी काफी नियोजित है. उन्होंने अपने बेटे को बताया है कि वह एक थिएटर रिसेप्शनिस्ट हैं. शेरी ने अपने बेटे से कहा है कि उनके काम के घंटे कभी रुकते नहीं हैं ताकि बच्चों की देखभाल करने वाली को इस मामले में संदेह न हो.

शेरी ने कहा, ''मुझे पता है कि हमारे बच्चों को इस बारे में पता चलेगा तो वे ख़िलाफ़ हो जाएंगे.''

इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES/PHOTOFUSION

शेरी इस मामले में कोई अनोखी नहीं हैं. एक अनुमान के मुताबिक़ यूनाइटेड किंगडम में 72,800 सेक्स वर्कर्स हैं.

इनमें ज्यादातर महिलाएं हैं. इन महिलाओं में बड़ी संख्या माताओं की है. ऐसी महिलाओं को मदद पहुंचाने वाले ग्रुप इंग्लिश कलेक्टिव ऑफ प्रॉस्टिट्यूट्स (ईसीपी) का भी कहना है कि ज़्यादातर सेक्स वर्कर्स मां हैं.

इस मामले में सोशल मीडिया कैंपेन के ज़रिए सेक्स वर्कर के पेशे को अपराध के दायरे से अलग करने की मांग की जा रही है.

पढ़ें:सेक्स वर्कर से व्यापारी बनने की कहानी

सेक्स बेचने की स्पष्ट वजह पैसा है. शेरी को ईसीपी की मदद हासिल है. जब वह 20 साल की थीं तो उन्होंने लंदन के एक कोठे पर काम करना शुरू किया था.

शेरी को ऑफिस में नौकरी से कम पैसे मिलता था, इसलिए उन्हे सेक्स बेचना रास आया. सेक्रेटरी के रूप में शेरी की तनख़्वाह 15,000 पाउंड थी लेकिन वह जिस्म बेचकर ज़्यादा पैसे कमा सकती थीं. इसमें उनकी कमाई एक रात की 100 पाउंड से ज्यादा हो गई. जब उनका बेटा हुआ तो उन्होंने एस्कॉर्ट सर्विस के लिए करना शुरू कर दिया.

इमेज कॉपीरइट MAKEMUMSAFER
Image caption यूनाइटेड किंगडम में 1990 से 2015 के बीच 152 सेक्स वर्करों की हत्या हो चुकी है

शेरी ने कहा इस पेशे में जोखिम भी कम नहीं है. उन्हें कई बार आक्रामक ग्राहकों के हमले का भी सामना करना पड़ा.

शेरी का कहना है कि उनके अब नियमित ग्राहक हैं. उन्होंने कहा कि फायर फाइटर का काम भी कम जोखिम भरा नहीं है. शेरी ने कहा कि आप जोखिम की तुलना कमाई से कर सकते हैं. सेक्स वर्करों पर हमला कोई अपवाद वाकया नहीं है.

पढ़ें: रस्म के नाम पर बच्चियों के साथ होता है सेक्स

एक अनुमान के मुताबिक़ यूके में 1990 से 2015 के बीच 152 सेक्स वर्करों की हत्या हो चुकी है. ऐसा माना जाता है कि सेक्स वर्कर्स अपने साथ होने वाले दुर्व्यवहारों की शिकायत पुलिस में नहीं कराती हैं क्योंकि वे पुलिस की कार्यवाही से डरती हैं.

शेरी के लिए कमाई अहम है. उन्होंने कहा कि एक तरफ आप अपने बच्चों के लिए ऐसा कर रहे हैं दूसरी तरफ यह पता चलने पर लोग आपको अनैतिक मां के रूप में पेश करेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे