अमरीका ने दशक में दूसरी बार बढ़ाई ब्याज दर

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी फ़ेडरल रिज़र्व ने ब्याज दर में 0.25 फ़ीसदी की बढ़ोतरी की है. ये दशक में दूसरी बढ़ोतरी है.

फ़ेडरल ओपन मार्केट कमेटी ने अमरीकी अर्थव्यवस्था की मज़बूत स्थिति को देखते हुए ब्याज दर में 0.5 से लेकर 0.75 फ़ीसदी तक बढ़ोतरी का समर्थन किया था.

लेकिन केंद्रीय बैंक ने एक बयान में कहा कि उसे उम्मीद है कि देश की अर्थव्यवस्था को भविष्य में क्रमश: होनेवाली वृद्धि की ज़रूरत होगी.

फ़ेडरल रिज़र्व की चेयरवुमन जेनेट येलेन ने कहा कि आर्थिक परिदृश्य बहुत अनिश्चयपूर्ण बना हुआ है और ब्याज दर में बढ़ोतरी महज़ एक मामूली-सा बदलाव है.

ब्याज दर में बढ़ोतरी संभावना जताई जा रही थी. ब्याज दर में पिछली बढ़ोतरी एक साल पहले हुई थी.

एक प्रेस वार्ता में चेयरवुमन येलेन ने उन अपेक्षाओं पर ज्यादा बल नहीं दिया कि डोनल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति काल में ब्याज दर बढ़ेंगे क्योंकि वो विस्तारवादी नीतियों की वकालत करते रहे हैं.

प्रेसवार्ता में उन्होंने इन आशंकाओं को भी खारिज कर दिया कि बैंक के नीतिगत फैसलों पर डोनल्ड ट्रंप का प्रभाव रह सकता है.

उन्होंने कहा, "मैं फ़ेडरल रिज़र्व की स्वतंत्रता की पुरज़ोर समर्थक हूं."

इमेज कॉपीरइट Reuters

ब्याज दरों में बढ़ोतरी को बैंक ने देश के आर्थिक विकास में लगातार हो रही वृद्धि और बढ़ते रोज़गार से जोड़ा है.

हालांकि मुद्रास्फीति की दर फ़ेडरल रिज़र्व के दो फ़ीसदी के लक्ष्य से अभी भी नीचे है. बैंक को उम्मीद है कि मध्यावधि में कीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी.

फ़ेडरल रिज़र्व ने अगले तीन वर्ष के लिए आर्थिक अनुमानों की भी घोषणा की है.

इसके मुताबिक फ़ेडरल रिज़र्व के कोष में अगले साल 1.4 फीसदी की दर से बढ़ोतरी होगी. 2018 में ये 2.1 फीसदी और 2019 में 2.9 फ़ीसदी रहेगी.

केंद्रीय बैंक ने कहा है कि सकल घरेलू उत्पाद में अगले साल 2.1 फीसदी की बढ़ोतरी होगी और अगले तीन सालों में ये अनुमानत: उसी के आसपास बनी रहेगी.

बैंक के मुताबिक 2017-19 में बेरोज़गारी दर 4.5 फीसदी तक गिर सकती है.

साथ ही मुद्रास्फीति की दर में अगले साल 1.9 फीसदी की बढ़ोतरी होगी अगले दो साल में वो उसी के आसपास बनी रहेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)