चर्च में औरतों ने क्यों किया 'ब्रा प्रोटेस्ट'?

रिटा मायेस्त्रे इमेज कॉपीरइट TWITTER - @RITA_MAESTRE
Image caption रिटा मायेस्त्रे

स्पेन की एक अदालत ने मैड्रिड सिटी की काउंसलर को चर्च में 'ब्रा' दिखाकर विरोध-प्रदर्शन करने के मामले में बरी कर दिया है.

सत्ताईस साल की रिटा मायेस्त्रे पर विवेक और धार्मिक आस्था के उल्लंघन के मामले में जुर्माना लगा था.

वामपंथी रुझान वाली स्टूडेंट रिटा ने प्रदर्शन के दौरान टीशर्ट उतार ब्रा दिखाया था.

उनकी कई साथी पूरी टॉपलेस हो गई थीं.

50 लोगों का एक समूह मैड्रिड में कंपुलतेंसे यूनिवर्सिटी के चर्च में जैसे आपा खो बैठा था. वहां महिलाओं के हक़ों के समर्थन और कैथोलिक चर्च की सर्वोच्च संस्था - वेटिकन के विरोध में नारे लगाये गये थे.

कोर्ट ने कहा कि रिटा का क़दम अनुचित था पर इसमें अपवित्र करने का कोई मामला नहीं था.

प्रदर्शन के बाद स्पेन में काफ़ी विवाद हुआ था. रिटा रूढ़िवादियों के निशाने पर आ गई थीं.

मार्च में कोर्ट ने उन्हें दोषी ठहराते हुए अदालत ने जुर्माना भरने को कहा था. लेकिन अब अपील ने कोर्ट ने उसे निलंबित कर दिया है.

कोर्ट ने कहा कि 'कम कपड़े' या 'अनुचित तेवर' में किसी भी तरह की कोई अपवित्रता जैसी स्थिति नहीं है.

फ़ैसले के बाद रिटा ने ट्विटर पर अपनी ख़ुशी का इज़हार किया है, ''अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए यह अच्छी ख़बर है. मैं ख़ुश हूं, संतुष्ट हूं और मुझे गर्व है. मैं अपनी अंतरात्मा की शुक्रगुजार हूं जिसने इन सालों में मुझे ऐसा करने का साहस दिया.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)