तुर्की में रूसी राजदूत के हत्यारे के बारे में ख़ास बातें

इमेज कॉपीरइट AP

तुर्की में रूसी राजदूत आंद्रे कार्लोफ़ का हत्यारा मेवलुत मेर्त एडिन्टास आख़िर था कौन?

क्या उसके किसी जिहादी संगठन से संबंध थे. वो उस जगह पर बंदूक लेकर पहुंचा कैसे जहां रूसी राजदूत भाषण दे रहे थे. जानिए क़ातिल के बारे में ख़ास बातें.

इमेज कॉपीरइट AP
  • तुर्की में अधिकारियों के मुताबिक़ मेवलुत मेर्त एडिन्टास 22 साल का एक पुलिसकर्मी था. उसने अंकारा के दंगा निरोधी पुलिस दस्ते में दो साल तक काम किया.

पढ़ें: तुर्की में रूसी राजदूत की हत्या क्यों हुई?

  • तुर्की के अधिकारियों के मुताबिक़ 22 साल का मेवलुत मेर्त एडिन्टास पश्चिमी तुर्की के आइडिन प्रांत में स्थित सोक शहर में साल 1994 में पैदा हुआ था.
  • अल अरेबिया के मुताबिक़ वो 19 दिसंबर को ऑफ़ ड्यूटी था. घटनास्थल पर वो अपना पहचान पत्र दिखाकर दाखिल हुआ.
  • रूसी राजदूत पर की गई गोलीबारी के वीडियो में हत्या के बाद वो अल्ला हू अकबर चिल्ला रहा है. अल अरेबिया के ही मुताबिक़ उसने क़त्ल करने के बाद अल क़ायदा नेता ओसामा बिन लादेन की ये लाइनें दोहराईं, "जब तक हम अपने देशों में महफ़ूज़ नहीं होंगे हम तुम्हें तुम्हारे सपनों में भी महफ़ूज़ नहीं होने देंगे."
  • हेवी न्यूज़ के मुताबिक़ अब तक क़ातिल के किसी जिहादी संगठन से जुड़े होने की बात सामने नहीं आई है लेकिन रूसी राजदूत की हत्या के बाद इस्लामिक स्टेट और अल क़ायदा जैसे संगठनों से संबंधित कई ट्विट अकाउंट्स पर इस बात का जश्न मनाया गया.

बाद में पुलिस कर्मियों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए मेवलुत मेर्त एडिन्टास को भी मार दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे