बर्लिन: यूरोप में संदिग्ध ट्यूनीशियाई की तलाश जारी

इमेज कॉपीरइट Thinkstock
Image caption बर्लिन के क्रिसमस बाज़ार पर ट्रक हमले के संदिग्ध की तस्वीर जारी की गई है.

बर्लिन के क्रिसमस बाज़ार में लॉरी हमले के संदिग्ध की तलाश यूरोप के शेंगेन देशों में जारी है.

जर्मनी के अभियोजकों ने संदिग्ध हमलावर की पहचान कर उसके ख़िलाफ़ वॉरंट जारी किया है.

बर्लिन में क्रिसमस बाज़ार पर ट्रक दौड़ाने से 12 लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हुए थे.

अधिकारियों ने संदिग्ध की पहचान उजागर नहीं की है लेकिन मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ ये ट्यूनीशिया का एक शख़्स अनीस ए है, इसका जन्म 1992 में हुआ था.

हमले के लिए जिस ट्रक का इस्तेमाल किया गया था उसमें उसका रेज़िडेंस पर्मिट मिला था.

बताया जा रहा है कि चरमपंथ रोधी पुलिस में पिछले महीने उसकी शिकायत दर्ज कराई गई थी और जून महीने में उसे देश से निकालने का आदेश दिया गया था.

इमेज कॉपीरइट OPOZITA.COM
Image caption ट्रक चालक ल्यूकाज़ उर्बान की तस्वीर, माना जा रहा है कि ट्रक चालक ल्यूकाज़ उर्बान की हत्या कर दी गई थी.

रिपोर्टों के मुताबिक़ ट्रक चालक के साथ झड़प में संदिग्ध घायल हुआ होगा. ट्रक चालक ल्यूकाज़ उर्बान पोलैंड का नागरिक था जिसका शव ट्रक में मिला था.

उसके शव पर गोली लगने और चाकू से किए गए वार के घाव थे.

तथाकथित इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली थी लेकिन कोई सबूत पेश नहीं दिए थे.

नॉर्थ राइन वेस्टफ़ालिया प्रांत के एमेरिच इलाके में शरणार्थी शिविर में संदिग्ध को परमिट जारी किया गया था, पुलिस यहां भी तलाश ले रही है.

इमेज कॉपीरइट AFP

शेंगेन में आईसलैंड, लिकटनस्टाइन, नॉर्वे और स्विट्ज़रलैंड समेत यूरोपीय संघ के ज़्यादातर देश शामिल हैं.

रिपोर्टों के मुताबित अनीस 2012 में इटली और फिर 2015 में जर्मनी आया था. जर्मनी में उसने शरण के लिए आवेदन दिया था.

नॉर्थ राइन वेस्टफ़ालिया के आंतरिक मंत्री राल्फ़ येगर ने बताया कि जून में उसे कागज़ात पूरे न होने की वजह से शरण देने से इनकार कर दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)