तुर्की हमलाः हमलावर की तलाश जारी

इमेज कॉपीरइट EPA

इस्तांबुल पुलिस नाइटक्लब में गोलीबारी करने वाले बंदूकधारी की तलाश कर रही है. हमले में कम से कम 39 लोगों की मौत हो गई थी.

हमला रेना नाइटक्लब में रविवार को तब हुआ जब लोग नए साल का जश्न मना रहे थे.

हमले में दो भारतीयों की भी मौत हुई है.

कुर्द चरमपंथी संगठन पीकेके नेता ने हमले में कुर्द बलों का हाथ होने से इंकार किया है.

संयुक्त राष्ट्र परिषद ने हमले की निंदा की है और इसे जघन्य और बर्बर चरमपंथी हमला बताया है.

रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने हमले की निंदा करते हुए इसे अकल्पनीय बताया है. अमरीकी सरकार ने भी गोलीबारी की आलोचना की है.

नाइट क्लब पर हमला, 39 की मौत

तुर्की हमले में दो भारतीयों की भी मौत

तुर्की में रूसी राजदूत की गोली मार कर हत्या

इमेज कॉपीरइट Press Eye

तुर्की के अधिकारियों के अनुसार हमले में 15 विदेशी मारे गए हैं. इनमें इसराइल, फ्रांस, ट्यूनीशिया, लेबनान, भारत, बेल्जियम, जॉर्डन और सऊदी अरब के नागरिक शामिल हैं.

तुर्की के प्रधानमंत्री के अनुसार हमलावर ने हमले के बाद "मची अफरातफरी का फायदा उठाया" और घटनास्थल से भाग निकला.

बनाली यल्दिरिम ने पहले की रिपोर्ट से इंकार किया है और इस बात की भी पुष्टि की है कि हमलावर वहां सांता क्लाज के वेश में नहीं आया था.

हमलावर ने क्लब में घुसने से पहले बाहर तैनात एक पुलिसकर्मी और सुरक्षागार्ड की हत्या कर दी थी.

इमेज कॉपीरइट AP

रेना नाइटक्लब में हमले के वक्त करीब 700 लोग जुटे थे. इसे इस्तांबल की सबसे महंगी जगहों में से एक माना जाता है. ये विदेशियों और मशहूर हस्तियों का पसंदीदा क्लब है.

आइए देखें कि तुर्की में 2016 में कब-कब और कहां-कहां हमले हुएः

10 दिसंबरः इस्तांबुल स्टेडियम में दो बम हमले हुए थे. इसमें 44 लोगों की मौत हो गई थी. हमले की जिम्मेदारी कुर्द चरमपंथियों ने ली थी.

20 अगस्तः गाज़ियानटेप में शादी समारोह में हुए बम हमले में कम से कम 30 लोगों की मौत हो गई थी. इस्लामिक स्टेट के हाथ होने का शक था .

30 जुलाईः 35 कु्र्द लड़ाकों ने सैन्य अड्डे को उ़ड़ाने की कोशिश की और तुर्की सेना के हाथों मारे गए.

28 जूनः इस्तांबुल में अतातुर्क हवाईअड्डे पर बंदूक और बम हमले में 41 लोगों की मौत हो गई. आईएस को जिम्मेदार ठहराया गया था.

13 मार्चः अंकारा में कुर्द लड़ाकों के एक कार बम विस्फोट में 37 लोग मारे गए थे.

17 फरवरीः अंकारा में ही सेना के एक काफिले पर हुए हमले में 28 लोगों की मौत हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)