लोग जल रहे थे, कैप्टन जहाज छोड़ भागा

इमेज कॉपीरइट DITA ALANGKAR
Image caption जहाज़ में आग लगने से कुछ चीजें बुरी तरह जल गई थीं

इंडोनेशिया के जिस जहाज़ में आग लग गई थी और 23 लोग मारे गए थे, उसके कप्तान को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

'ज़हरो एक्सप्रेस' नाम का जहाज 230 मुसाफ़िरों के साथ राजधानी ज़कार्ता से तिदुंग द्वीप जा रहा था. जहाज़ खुलने के बाद तक़रीबन डेढ़ किलोमीटर ही जा पाया था कि उसमें आग लग गई.

इंडोनेशिया की नौ ख़ास बातें

इंडोनेशिया: ज़बर्दस्त भूकंप से 97 लोगों की मौत

गवर्नर पर क़ुरान की बेइज़्ज़ती का आरोप

ऐसी ख़बरें हैं कि आग लगने के बाद जहाज़ छोड़ कर निकल जाने वाले पहले शख़्स उसके कप्तान ही थे. बाद में उन्हें समुद्र से बचा लिया गया था.

इंडोनेशियाई सरकार के परिवहन मंत्रालय के एक बड़े अफ़सर ने कहा है कि यदि यह बात सही पाई गई तो जहाज़ के कप्तान का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा.

पुलिस लापरवाही बरतने के मामले में उनसे पूछताछ कर रही है. पर आधिकारिक रूप से उनकी पहचान नहीं की गई है.

अधिकारियों ने कहा है कि अभी भी उस हादसे का शिकार हुए 19 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं. उस जहाज़ पर सवार सभी लोगों का पता लगा लिया गया है.

अधिकारियों का कहना है कि बिजली की ख़राबी की वजह से आग लगी थी. उनका यह भी दावा है कि उस समय जहाज़ पर 100 लोग ही थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)