इंडोनेशिया: पहाड़ पर अजनबी के साथ सेक्स क्यों कर रहे हैं लोग?

  • 8 जनवरी 2017
इंडोनेशिया इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK
Image caption इस पहाड़ पर लोगों को अनुष्ठान से पहले नहाना होता है.

इंडोनेशिया के जावा में 'सेक्स के पहाड़' गुनुंग केमुकस पर सैकड़ों तीर्थयात्री जमा होकर अजनबी की तलाश करते हैं और, उनके साथ सेक्स संबंध बनाते हैं ताकि उनकी तक़दीर संवर जाए.

मान्यता है कि एक राजकुमार अपनी प्रेमिका और सौतेली मां के साथ यहां शारीरिक संबंध बनाते हुए पकड़ा गया था जिसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी. वो दोनों इसी पहाड़ी पर दफ़न हैं.

30 सालों से इस अनुष्ठान का अध्ययन कर रहीं सामाजिक मनोविज्ञानी किओंतजोरो सिओपार्नो कहती हैं, 'तीर्थयात्रियों का मानना है कि यदि वे यहां अपनी कामुकता का प्रदर्शन करेंगे तो उनकी तक़दीर संवर जाएगी.'

इसीलिए गुनुंग केमुकस को 'सेक्स का पहाड़' भी कहा जाता है.

यहां हर 35 दिन पर अनुष्ठान होता है जिसमें देश भर के से लोग शामिल होते हैं. इंडोनेशिया विश्व का सबसे बड़ा मुस्लिम आबादी वाला देश है.

वेटोनन साइकिल (जावनिज़ कैलेंडर) के मुताबिक़ मांगलिक तारीखों का चयन किया जाता है. पुराने जावनिज़ कैलेंडर के हिसाब से 35 दिन चुने जाते हैं. जब रहस्यमय स्थान पर अंधेरा पसरने लगता है तब पवित्र देवदारू पेड़ के नीचे कैंडल लाइट में चटाई बिछाकर लोग बैठ जाते हैं. विशाल अंजीर के पेड़ों की जड़ें लटकती रहती हैं.

यहां इस जादुई पहाड़ पर एक क़ब्र है, जिसके बारे में कहा जाता है कि महान राजकुमार और उनकी प्रेमिका की रक्षा के लिए ऐसा किया जाता है.

इमेज कॉपीरइट COURTESY OF SBS
Image caption इस रस्म से पहले क़ब्र पर फूल अर्पित करते हैं लोग

भाग्य के लिए कामुकता

योग्याकर्टक्स के गदजाह माडा यूनिवर्सिटी की सिओपार्नो कहती हैं कि युवराज पैंगेरन समोद्रो रानी नायी ओंत्रोवुलान के साथ भाग गए थे. ओंत्रोवुलान उनके पिता की पत्नी और सौतेली मां थीं. ये गुनुंग केमुकस के पहाड़ पर छिप गए थे. 16वीं शताब्दी की यह कहानी कई रूपों में है. एक दिन युवराज और रानी सेक्स करते हुए पकड़े गए. पहाड़ की चोटी पर ही दोनों को मार दिया गया. यहीं पर उन्हें दफ़ना भी दिया गया.

'सेक्स के लिए बहुत कम जगह की ज़रूरत'

'आपकी सेक्स में ज़्य़ादा ही दिलचस्पी लगती है'

क्या रोबोट से सेक्स करना बेवफाई है?

रस्म के नाम पर 'सेक्स' के ख़िलाफ़ संघर्ष

अनुष्ठान के नियम

इस अनुष्ठान की शुरुआत प्रार्थना के साथ पैंगेरन समोद्रो और रानी नायी ओंत्रोवुलान की क़ब्र पर फूल अर्पित करने के बाद होती है. पहाड़ के दो पवित्र दर्रों में से एक में तीर्थयात्रियों को स्नान करना ज़रूरी होता है. इसके बाद वे किसी अजनबी की तलाश सेक्स के लिए करते हैं.

इमेज कॉपीरइट COURTESY OF SBS
Image caption नब्बे के दशक में यहां खाने-पीने के सामान भी बिकने लगे.

सुपर्णो ने बताया, ''मान्यता है कि यदि आप अपनी पत्नी या पति के अलावा किसी और के साथ सोते हैं तो आर्शीवाद और धन की प्राप्ति होती है. पार्टनर ऐसा होना चाहिए जिसमें दोनों एक दूसरे को जानते नहीं हों.''

यह जावनिज़ कैलेंडर के हिसाब से शुक्रवार को प्रत्येक 35 दिन पर सात बार पूरा होना चाहिए. ऐसे में यह रिलेशनशिप एक साल तक चलती है. यदि आप इसे बिना सात बार पूरा किए ख़त्म कर देते हैं तो आपको फिर से शुरू करना होगा.

विशेषज्ञों का मानना है कि यदि आप युवा नहीं हैं तो यह मुश्किल है. यहां कपल एक दूसरे का फोन नंबर और पता ले लेते हैं और फिर अगली बार मिलते हैं.

इमेज कॉपीरइट SBS
Image caption इस रस्म में शरीक होने सैकड़ों लोग आते हैं.

इन व्यस्ततम रातों में 8,000 से ऊपर तीर्थयात्री पहाड़ के शिखर पर पहुंच सकते हैं. ये पहाड़ पर खड़ी सीढ़ियों को ज़रिए पहुंचते हैं. सुपर्णों ने बताया कि यहां ज़्यादातर छोटे व्यापारों के मालिक आते हैं. वे इस उम्मीद के साथ आते हैं कि रातें पूरी कर लेंगे तो उनकी कमाई खूब होगी और वे कामयाब होंगे.

इस पुण्यस्थान पर आपको फूड स्टॉल भी मिलेंगे. यहां चाय, मूंगफली और नूडल्स मिलते हैं. यहां किराए पर कमरे भी मिलते हैं. एक महिला घूंघट में एक आदमी के साथ आती है. दोनों की उम्र 50 के आसपास है. दोनों इन अनुष्ठान को पूरा करने के लिए छुप जाते हैं. इनसे इंटरव्यू लेने की कोशिश की तो ये भाग गए.

गोपनीयता

इस पवित्र स्थल के भीतर पाक सलामत कुरान पढ़ रहे हैं. कुरान पढ़ने के बाद उन्होंने प्रेमिका की तलाश शुरू कर दी. उन्होंने कहा, ''यहां आपको कई कारोबारी मिल जाएंगे जो आपको बताएंगे कि इस अनुष्ठान को पूरा किए बिना उनका कारोबार ठीक से काम नहीं कर रहा था.''

उन्होंने कहा, ''मैं देखता हूं कि कोई महिला फिट दिख रही है तो उसके पास जाता हूं. मैं अपने दिल की परवाह करता हूं. मैं ये भी देखता हूं कि जिसके सामने मैं प्रस्ताव रख रहा हूं वो भी मुझे महसूस कर रही है.''

वह आदमी विवाहित हैं. इनके तीन बच्चे हैं. उनकी पत्नी को नहीं पता है कि वह पहाड़ पर है. उन्हें पता है कि वह मस्जिद में नमाज़ अदा करने गए हैं. पत्नी को पता होता तो वह उन्हें पहाड़ पर नहीं आने देतीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption केमुकस पहाड़ पूर्वोत्तर सिटी सोलो से 28 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है

इबू विंदा 60 साल की महिला हैं. वह गोल्डेन ब्लाउज़ और एक शॉर्ट मिनीस्कर्ट में हैं. उन्होंने लेदर जैकेट पहना है. होंठ चमकीले लाल रंग से रंगे हुए हैं. चेहरे से पाउडर की खुशबू भी आ रही है.

उन्होंने कहा, ''मेरे चार बच्चे हैं और एक पोता है. यदि मैं अपने पति को बताती कि केमुकस जा रही हूं तो वह नहीं आने देते. विंदा पिछले 10 सालों से सेक्स पहाड़ पर एक पुरुष से मिलने आ रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे