ईरान के पूर्व राष्ट्रपति रफ़संजानी का निधन

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अली अकबर हाशमी रफ़संजानी साल 1989 से 1997 तक ईरान के राष्ट्रपति रहे.

ईरान के पूर्व रार्ष्ट्रपति अली अकबर हाशमी रफ़संजानी का निधन हो गया है. वो 82 साल के थे.

सरकारी मीडिया का कहना है कि उनकी मौत राजधानी तेहरान के एक अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से हुई.

सरकारी मीडिया नेटवर्क आइरिन ने रविवार को बताया "अपनी पूरी ज़िंदगी में इस्लाम और क्रांति के उद्देश्यों को पूरा करने की कोशिश करते हुए" रफ़संजानी की मौत हो गई.

ईरान से बात को तैयार सऊदी अरब बशर्ते...

ईरान: सुधारवादियों का प्रदर्शन बेहतर

साल 1980 के बाद ईरान की राजनीति में उनको एक ताकतवर नेता के रूप में देखा जाता था.

वो साल 1989 से 1997 तक देश के राष्ट्रपति रहे, लेकिन 2005 के चुनावों में महमूद अहमदीनेजाद से हार गए थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption ईरान के पूर्व राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद

वर्तमान में रफ़संजानी एक्सपीडिएंसी काउंसिल की अध्यक्षता कर रहे थे, जो संसद और देश की संवैधानिक संस्था गार्डियन काउंसिल के बीच मतभेदों का निपटारा करती है.

एक्सपीडिएंसी काउंसिल एक प्रशासनिक संस्था है जिसे देश के सर्वोच्च नेता चुनते हैं. यह संस्था 1988 में देश के संविधान में हुए सुधारों के बाद बनाई गई थी. हालांकि इसे संसद और गार्डियन काउंसिल के बीच मतभेद सुलझाने के लिए बनाया गया था, लेकिन यह संस्था सर्वोच्च नेता को सलाह देने का काम भी करती है.

12 सदस्यों वाली गार्डियन काउंसिल संविधान की व्याख्या करने वाली प्रमुख संस्था मानी जाती है जिसने साल 2013 में हुए राष्ट्रपति चुनावों में रफसंजानी को लड़ने की इजाजत नहीं दी थी.

ईरान के राष्ट्रपति चुनाव में 'पाबंदी की राजनीति'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे