बीमारों को सेक्स के लिए सरकारी मदद की मांग

इमेज कॉपीरइट AFP

जर्मनी की ग्रीन पार्टी की प्रवक्ता ने कहा है कि अपंग और गंभीर रूप से बीमार लोग अगर पैसे देकर सेक्स करते हैं तो उन्हें यह पैसा सरकार से वापस लेने का हक़ मिलना चाहिए.

उन्हें इसके लिए यह साबित करना होगा कि उन्हें चिकित्सीय तौर पर सेक्स की ज़रूरत है और सेक्स वर्कर को पैसा देने के लिए उनके पास पैसे नहीं हैं.

अमरीकी सपना टूटा, सेक्स स्लेव बनाई गई

'वो जानता था कि मैं 14 साल की थी'

सांसद एलिजाबेथ स्कैरफ़ेनबर्ग ने वेल्ट एएम सोनटैग अख़बार से कहा, "मेरा ख़्याल है कि सेक्स करने के लिए स्थानीय अधिकारियों को आर्थिक मदद देनी चाहिए."

जर्मनी में 2002 से वेश्यावृति को क़ानूनी मान्यता प्राप्त है.

इमेज कॉपीरइट AFP

वेल्ट एएम सोनटैग अख़बार ने लिखा है कि कई सेक्स वर्करों ने नर्सिंग होम में अपनी सेवाएं दी हैं.

नर्सिंग होम में सेक्स संबंधी सलाह देने वालों का कहना है कि वेश्याएं मरीजों के लिए किसी 'वरदान' से कम नहीं थीं.

नीदरलैंड में इलाज में होने वाले खर्च के तौर पर सेक्स पर होने वाले खर्च को भी शामिल किया जाता है.

और इसे सरकार से वापस लेने का दावा करने का भी प्रावधान भी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)