सबसे लंबी उम्र की मादा गोरिल्ला चल बसी

इमेज कॉपीरइट Reuters

सबसे अधिक उम्र की मादा गोरिल्ला कोलो नहीं रही. 60 साल की कोलो की मौत अमरीका के चिड़ियाघर में हुई.

ओहियो के कोलंबस जू एंड एक्वेरियम में कोलो रात में सोई तो फिर उठी ही नहीं. दिसंबर में ही उसने अपना जन्मदिन मनाया था.

कोलो 1956 के दिसंबर में इसी चिड़ियाघर में पैदा हुई थी. माना जाता है कि चिड़ियाघर में जन्म लेने वाली वो पहली मादा गोरिल्ला थी.

आमतौर पर गोरिल्ला प्रजाति की जितनी औसत उम्र होती है, कोलो उससे 20 साल अधिक ज़िंदा रही.

हाल ही में कोलो के खतरनाक ट्यूमर का इलाज हुआ था. इसके बाद वो ठीक हो रही थी.

चिड़ियाघर में उसकी देखभाल करने वालों का कहना है कि मौत के कारणों की पुष्टि अभी बाकी है.

कोलंबस जू एंड एक्वेरियम ने एक बयान में कहा कि कोलो 'गोरिल्ला प्रजाति की प्रतिनिधि' थी. उसने 'लोगों को गंभीर रूप से लुप्त हो रही प्रजातियों के बारे में जानने को प्रेरित' किया.

बयान में ये भी कहा गया है, "कोलो को जो भी लोग मिलने आता वो सबका दिल जीत लेती थी."

चिड़ियाघर के मुताबिक़ कोलो का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

दिसंबर में कोलो को देखने और उसका जन्मदिन मनाने सैंकड़ों की संख्या में लोग चिड़ियाघर आए थे. सबने मिलकर केक का भी लुत्फ उठाया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)