इसराइल का वेस्ट बैंक में 2,500 घर बनाने का एलान

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रामल्लाह के नज़दीक बैत अल की बस्तियों में 100 से ज़्यादा घर बनेंगे

इसराइल ने फलस्तीनी कब्ज़े वाले वेस्ट बैंक पर यहूदी बस्तियों में 2,500 से ज़्यादा घरों को बनाने की योजना का एलान किया है.

रक्षा मंत्री एविगडोर लीबरमेन और प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतन्याहू ने कहा कि उन्होंने घरेलू ज़रूरतों को पूरा करने के लिए ये क़दम उठाया है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रक्षा मंत्री एविगडोर लीबरमेन और प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतन्याहू

फ़लस्तीनी अधिकारियों का कहना है कि इसराइल का ये क़दम क्षेत्र में शांति क़ायम करने की कोशिशों को एक और झटका है.

अमरीका में डोनल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद इसराइली अधिकारियों ने दूसरी बार ऐसी योजनाओं का एलान किया है.

ट्रंप ने इशारा किया है कि वे यहूदी बस्तियों के निर्माण पर बराक ओबामा से ज़्यादा हमदर्दी रखेंगे. ट्रंप ने यहूदी बस्तियों के एक कट्टर समर्थक को इसराइल का राजदूत नियुक्त किया है.

पिछले महीने ट्रंप ने ओबामा की आलोचना की थी कि उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव पर वीटो करने से इनकार कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption यहूदी बस्तियां बसाने वालों ने डोनल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने पर खुशी जताई है

इस प्रस्ताव में इसराइल को फ़लस्तीन में क़ब्जे वाली ज़मीन पर बस्तियों के निर्माण की सभी गतिविधियों को तुरंत रोकने को कहा गया था और साथ ही चेतावनी दी गई थी कि इससे "दो राष्ट्र समाधान की व्यवहारिकता ख़तरनाक तरीके से जोख़िम में है."

इसराइल के 1967 में फ़लस्तीन के पश्चिमी किनारे और पूर्वी येरूशलम पर क़ब्ज़े के बाद से वहां बने क़रीब 140 बस्तियों में करीब पांच लाख यहूदी रहते हैं.

अंतरराष्ट्रीय क़ानून के मुताबिक़ इन बस्तियों को अवैध माना जाता है, हालांकि इसराइल इसे स्वीकार नहीं करता.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे