अमरीका के राष्ट्रपति की संतान होने की समस्याएं

बैरॉन ट्रंप इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption 10 साल के बैरॉन ट्रंप अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के सबसे छोटे बेटे हैं.

देश के सबसे बड़े सार्वजनिक पद का मुखिया होने के नाते एक अमरीकी राष्ट्रपति को अक्सर सोशल नेटवर्क पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ता है. लेकिन यह आलोचना उनके बच्चों के लिए समस्या नहीं बने, इसके लिए क्या सोशल नेटवर्क पर किसी किस्म की रेखा नहीं खींची जानी चाहिए?

कुछ वक्त पीछे जाएं, तो डोनल्ड ट्रंप के छोटे बेटे बैरॉन के साथ ऐसा ही एक वाकया हुआ था, जब उनके पिता, डोनल्ड ट्रंप द्वारा अमरीका के राष्ट्रपति पद की दावेदारी पेश की गई थी. सोशल नेटवर्क पर ट्रंप के आलोचकों ने अपनी टिप्पणियों में बैरॉन ट्रंप को भी शामिल कर लिया था.

उस वक्त कुछ लोग 10 साल के बैरॉन ट्रंप के समर्थन में भी उतर आए थे. यह कहते हुए कि राजनीतिक झगड़ों से ट्रंप के बेटे को दूर रखा जाए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मंगलवार को व्हाइट हाउस ने इसी से जुड़ा एक संक्षिप्त बयान जारी किया. इसमें कहा गया कि अमरीका में एक पुरानी परंपरा है, जिसके मुताबिक़ बच्चों को राजनीतिक फ़ोकस से बाहर रहते हुए अपना विकास करने का मौका मिलता आया है.

हालांकि इस बयान में ट्रंप या फिर उनके बेटे का ज़िक्र नहीं किया गया था. लेकिन यह कहा गया कि यह अमरीका की पुरानी परंपरा है और यह आगे भी जारी रहेगी.

इस परंपरा पर टिप्पणी करते हुए टीवी राइटर केटी रिच ने ट्वीट किया कि बैरॉन पहले ऐसे सेलेब्रिटी किड होंगे जिसकी शिक्षा घर पर पूरी होगी.

रिच की इस टिप्पणी को लेकर लोगों का गुस्सा सोशल नेटवर्क पर फूट पड़ा. रिच को अपने 'असंवेदनशील' बयान के लिए माफ़ी मांगनी पड़ी. लोकल मीडिया ने तो रिपोर्ट किया कि रिच को उनकी टिप्पणी के लिए चैनल ने अनिश्चित काल के लिए निलंबित भी कर दिया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसके बाद एक फ़ेसबुक पोस्ट को, जिसके क़रीब एक लाख लोगों ने शेयर किया, उसमें लिखा था कि किसी भी बच्चे के साथ ऐसा व्यवहार नहीं होना चाहिए, जैसा बैरॉन के साथ हुआ.

पिछले साल 8 नवंबर को जब राष्ट्रपति ट्रंप ने चुनाव जीता, तब भी उनके बेटे को आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा था. उस वक्त बैरॉन की अभिव्यक्ति को बोरियत भरा बताया गया था और बाक़ायदा इस पर कई जगह सिरीज़ चलाई गई थीं.

संयुक्त राज्य अमरीका के राष्ट्रपति की संतान होने पर यह जोख़िम हमेशा बना रहता है कि बिना वजह बच्चों को राजनीतिक आलोचनाओं का शिकार बनना पड़े.

बैरॉन ट्रंप से पहले...

इमेज कॉपीरइट AFP

पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की बेटी चेल्सी की तुलना एक कॉमेडी रेडियो शो में कु्त्ते से कर दी गई थी. हालांकि 1993 में सोशल नेटवर्क नहीं था, लेकिन फिर भी चेल्सी को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था, जिसपर क्लिंटन को कहना पड़ा था कि किसी किशोरी पर मज़ाक उड़ाकर हंसना बेहद असंवेदनशील है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आठ साल के कार्यकाल के दौरान पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की दोनों बेटियों को भी कई बार ऐसी परिस्थितयों का सामना करना पड़ा. दोनों को अपने पहनावे और लुक्स के लिए आलोचना का शिकार होना पड़ा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश की जुड़वा बेटियों और पूर्व राष्ट्रपति जिम्मी कार्टर की बेटी को भी सिर्फ इसलिए आलोचना का शिकार होना पड़ा, क्योंकि उनके पिता सार्वजनिक जीवन जी रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार