घृणा वाले बयान पर पाक टीवी होस्ट पर लगा बैन

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption आमिर लियाक़त हुसैन पाकिस्तान के चर्चित टीवी होस्ट हैं.

पाकिस्तान की मीडिया नियामक संस्था 'पेमरा' ने एक हाई प्रोफ़ाइल टीवी होस्ट पर प्रतिबंध लगा दिया है.

धार्मिक कार्यक्रमों के प्रस्तोता आमिर लियाक़त हुसैन पर आरोप है कि वो अपने कार्यक्रमों में ऐसी घृणा फैलानेवाली बातें करते हैं जिससे ज़िंदगियां ख़तरे में पड़ सकती हैं.

आमिर लियाक़त हुसैन ने पांच लापता उदारवादी एक्टिविस्टों और उनके समर्थकों पर ईशनिंदा के आरोप लगाए थे.

ऐसे आरोप पाकिस्तान में हत्याओं को उकसा सकते हैं जहां ईशनिंदा एक अपराध है और उसके लिए मौत की सज़ा का प्रावधान है.

लियाक़त हुसैन पर प्रतिबंध लगाने का फ़ैसला तुरंत प्रभाव से लागू हो गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

आमिर लियाक़त अपने कार्यक्रम 'ऐसे नहीं चलेगा' को पाकिस्तान का प्रमुख टीवी शो बताते हैं. इसी कार्यक्रम में उन्होंने पिछले महीने रस्यात्मक तरीके से लापता हुए उदारवादी ब्लॉगरों की निंदा की थी.

पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया अथॉरिटी (पेमरा) ने कहा कि बोल टीवी पर दिखाए जानेवाले कार्यक्रम को लेकर उसके पास कई शिकायतें आई थीं और आमिर लियाक़त के कार्यक्रम की कई हफ्ते तक मॉनिटरिंग करने के बाद ही प्रतिबंध लगाने का फ़ैसला लिया गया है.

बोल टीवी को भेजे दस्तावेज़ में पेमरा ने कहा कि आमिर लियाक़त ने "जान-बूझकर और लगातार ऐसे बयान दिए और आरोप लगाए जो घृणा वाले कथन के दायरे में आते हैं."

आमिर लियाक़त को ये संदेश दिया गया है कि वो टीवी पर किसी भी रूप में नज़र नहीं आ सकते.

लापता ब्लॉगरों को लेकर उन्होंने जो आरोप लगाए हैं वो गंभीर हैं और महज़ ईशनिंदा के संदेह को लेकर पाकिस्तान में कड़ी प्रतिक्रिया हो सकती है.

ऐसे मामलों में पहले पीड़ितों पर हमले हुए हैं और कई मामलों में गुस्साई भीड़ ने बुरी तरह मारपीट की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे