कहीं सुरक्षा के नाम पर दीवारें, तो कहीं रिश्तों में दीवारें

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका के नए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अपने चुनावी अभियान में मेक्सिको की सरहद पर दीवार बनाने का वादा किया था और राष्ट्रपति बनने के बाद इस पर कदम भी बढ़ा दिया. ये मामला काफ़ी सुर्खियों में है.

मेक्सिको-अमरीका के बीच दीवार से क्या बदलेगा?

ट्रंप की 'मेक्सिको दीवार' की राह के रोड़े

उन्होंने कहा था कि इसमें आने वाले खर्च का भुगतान मेक्सिको को भी करना होगा. हालांकि, मेक्सिको ने खर्च देने से इनकार कर दिया है. इसे लेकर दोनों देशों के बीच काफ़ी तनाव है.

दीवार के लिए मेक्सिको पर टैक्स लगाएंगे ट्रंप

अमरीका-मेक्सिको: पहले से है एक दीवार...

लेकिन दुनिया में ये अकेली दीवार नहीं, जिस पर पूरी दुनिया की निगाह टिकी है. और भी ऐसी कई दीवारें हैं.

इसराइल-फ़लीस्तीनी इलाक़ा

इमेज कॉपीरइट Getty Images

साल 2000 में इसराइल ने वेस्ट बैंक में फ़लीस्तीनी इलाक़े को अलग करती 420 मील लंबी दीवार बनाना शुरू किया. यह पांच से आठ मीटर ऊंची दीवार है.

इसराइल का दावा है कि वेस्ट बैंक में दीवार बनाने से उनकी धरती पर आत्मघाती हमले कम हुए हैं. इस दीवार को लेकर दुनिया भर में काफ़ी विवाद होता रहा है.

बर्लिन की दीवार

इमेज कॉपीरइट AFP

पूर्वी बर्लिन और पश्चिमी बर्लिन को अलग करती दीवार. 1961 में ये दीवार खड़ी की गई. इसका मक़सद पूर्वी जर्मनी से भाग कर पश्चिमी जर्मनी जाने वाले लोगों को रोकना था. इस दीवार की लंबाई क़रीब 155 किलोमीटर थी.

1989 में इस दीवार को गिरा दिया गया. दीवार गिरने के एक साल बाद पूर्वी और पश्चिमी जर्मनी एक हो गए. इस वक़्त करीब तीन किलोमीटर लंबी दीवार के अवशेष मौजूद हैं.

चीन की दीवार

इस दीवार से पूरी दुनिया वाकिफ है. चीन की दीवार हज़ारों साल पुरानी है. चीन ने यह दीवार हमलावरों से सुरक्षा के लिए बनाई थी. चीन की दीवार का निर्माण 220-206 ईसा पूर्व में किया गया था.

एक सर्वे में पाया गया कि पूर्व में डेंडोंग से पश्चिम में लोप लेक तक फैली इस दीवार की कुल लंबाई 21,196 किलोमीटर है.

साइप्रस की दीवार

इमेज कॉपीरइट AFP

साइप्रस में यूनाइटेड नेशंस ज़ोन डीमिलिट्राइज़्ड इलाका है. साल 1964 में ये ज़ोन बनी और 1974 में इसका दायरा और बढ़ाया गया. इसे ग्रीन लाइन भी कहा जाता और ये पूर्व में परालिम्नी से पश्चिम में काटो पिरगोस तक 180 किलोमीटर में फैली है.

ये निकोसिया के बीच से गुज़रती है और शहर को दक्षिणी और उत्तरी सेक्शन में बांटती है. कुल मिलाकर ये 346 वर्ग किलोमीटर में है और ज़ोन की चौड़ाई 20 मीटर से लेकर सात किलोमीटर तक है.

मेक्सिको-अमरीका

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मेक्सिको-अमरीका के बीच 3,100 किलोमीटर लंबी सीमा है. ये सीमा खाली मैदान, धूल भरे रेगिस्तान, हरियाली इलाक़े और रियो ग्रांड से गुज़रती है. दोनों देशों के बीच 2006 में अमरीकी संसद में बिल पास हुआ था.

इसके बाद दोनों देशों के बीच बाड़ लगाने का काम शुरू हुआ. हालांकि 2010 में ओबामा ने इस प्रोजेक्ट पर रोक लगाई थी. ट्रंप इसी रोक को खत्म करते हुए 1,000 मील लंबी नई विशाल दीवार बनाने की बात कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे