ट्रंप और पुतिन क्या बात करेंगे?

इमेज कॉपीरइट AFP

व्हाइट हाउस और रूसी सरकार के अनुसार अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन शनिवार को फ़ोन पर बात करने वाले हैं.

उम्मीद की जा रही है कि ट्रंप के अमरीका का कमान संभालने के बाद पहली बार दुनिया के दो बड़े दशों के ये नेता द्विपक्षीय मुद्दों और राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों पर करेंगे.

रूसी सरकार के प्रवक्ता दमित्री पेशकोव ने दोनों नेताओं के बीच बात होने की बात की पुष्टि की है.

हालांकि उन्होंने कहा है कि ज़रूरी नहीं कि दोनों के बीच किसी तरह का कोई समझौता हो.

उन्होंने कहा, "ट्रंप के पदभार संभालने के बाद पहली बार कोई बातचीत होने वाली है. इसलिए ये उम्मीद करनी कि सभी मुद्दों पर बात हो, सही नहीं है. हमें धैर्य रखना चाहिए."

इस बीच ट्रंप ने इस बात के संकेत दिए हैं कि वो रूस के ख़िलाफ़ लगे प्रतिबंधों को हटा सकते हैं.

'अंदर से डरे हुए हैं अमरीका के मुसलमान'

'अमरीका को न बाँटें डोनल्ड ट्रंप'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption एंगेला मर्केल और फ्रांस्वा ओलांद

ट्रंप शनिवार को जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल और फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वां ओलांद से भी फ़ोन पर बात करेंगे.

ट्रंप के सलाहकार केलीयेन कॉनवे ने फ़ॉक्स न्यूज़ को बताया कि रूस पर लगे प्रतिबंध हटाने के बारे में अमरीका "विचार कर रहा है."

उन्होंने सीबीएस न्यूज़ को बताया, "मुझे लगता है वो दोनों देश कैसे नज़दीक आ सकें, कैसे साथ में काम कर सकें और कैसे कट्टरपंथ इस्लामिक चरमपंथ का मुक़ाबला कर सकें जैसे ज़रूरी मुद्दों पर बात करेंगे."

अमरीकी ख़ुफ़िया विभाग ने हाल में राष्ट्रपति चुनावों में ट्रंप को फ़ायदा पहुंचाने की रूस के साइबर हमले के आरोप लगाए थे. हालांकि इसके बावजूद अमरीकी राष्ट्रपति ने पहले भी कहा था को रूस के साथ मज़बूत रिश्ते चाहते हैं.

दीवार के लिए मेक्सिको पर टैक्स लगाएंगे ट्रंप

ट्रंप की 'मेक्सिको दीवार' की राह के रोड़े

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बेलग्रेड में दीवार पर बने व्लादीमिर पुतिन और डोनल्ड ट्रंप के चित्र

इसके बाद चुनाव संबंधी साइबर हमले का आरोप लगाते हुए पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रूस पर नए सिरे से प्रतिबंध लगा दिए थे और रूस के 35 राजनायिकों को बाहर जाने के लिए कह दिया था.

रूसी सरकार अमरीकी चुनावों में किसी तरह हैकिंग के आरोपों से इंकार करती रही है.

इस महीने की शुरूआत में ट्रंप ने कहा था कि यदि चरमपंथ से लड़ने में रूस मदद करता है तो वो रूस पर लगे प्रतिबंधों में रिआयत दे सकते हैं.

साल 2014 में रूस के क्रीमिया पर कब्ज़ा करने और पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादियों का समर्थन किया था जिसके बाद से अमरीका और यूरोपीय यूनियन ने रूस पर प्रतिबंध लगा दिए थे.

ट्रंप के हिंदू, मुस्लिम और सिख पावर ब्रोकर

राष्ट्रपति का दौरा रद्द होने की ट्रंप ने की निंदा

इमेज कॉपीरइट Reuters

बीते महीने पूर्वी यूक्रेन में जारी संघर्ष के बीच यूरोपीय यूनियन ने रूस के ख़िलाफ़ लगे प्रतिबंधों की सीमा 31 जुलाई तक के लिए बढ़ा दी थी.

साल 2009 में जब बराक ओबामा ने राष्ट्रपति का पदभार संभाला था उन्होंने भी रूस के साथ संबंध सुधारने की कोशिश की थी, लेकिन यूक्रेन और क्रीमिया के मुद्दों को ले कर दोनों के रिश्तों में तनाव रहा.

अमरीकी चुनाव में लाखों ग़ैरक़ानूनी वोट पड़े: ट्रंप

ट्रंप: गर्भपात क़ानून पर हस्ताक्षर, एक भी महिला मौजूद नहीं

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)