ट्रैवल बैन का फ़ैसला पलटने वाले ऑर्डर के ख़िलाफ़ ट्रंप की अपील

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका के न्याय विभाग ने राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के सात मुस्लिम देशों के लोगों पर ट्रैवल बैन लगाने फ़ैसले को निलंबित करने के अदालती फ़रमान के ख़िलाफ़ अपील की है.

इससे पहले सिएटल के एक जज ने शुक्रवार को सात मुस्लिम बहुल देशों के लोगों के अमरीका आने पर रोक लगाने के ट्रंप प्रशासन के फ़ैसले पर अस्थाई रोक लगा दी थी.

अब ट्रंप प्रशासन ने ये क़दम फेडरल जज के फ़ैसले को पलटने के मकसद से उठाया है.

ट्रंप के ट्रैवल बैन के फ़ैसले पर कोर्ट की रोक

अमरीकी पाकिस्तानियों में ट्रंप के फ़रमान का ख़ौफ़

ट्रंप के फैसले से अमरीकी विदेश विभाग में फूट

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
ट्रंप के समर्थक हैं अपनी पसंद से ख़ुश

प्रभावित देशों के वीजाधारकों को अमरीका जाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है.

उन्हें आशंका है कि अमरीका में दाखिल होने के लिए उनके पास सीमित विकल्प रह गए हैं.

पिछले हफ्ते ट्रंप के प्रतिबंध के बाद अमरीका में सार्वजनिक विरोध प्रदर्शन हुए और हवाई अड्डों पर अफरा-तफरी का माहौल देखा गया था.

ट्रंप का असर: वापस अमरीका नहीं जा पा रहे भारतीय

ट्रंप पहले आते तो ये दिग्गज कहां जाते?

ट्रंप के बैन से किसका चैन गया, किसकी उड़ी नींद

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
अमरीका से निर्वासन का ख़तरा

ट्रंप प्रशासन के इस निर्णय के बाद से तकरीबन 60 हज़ार वीजा रद्द किए जा चुके हैं.

शनिवार को जज जेम्स रॉबर्ट के फैसले को ट्रंप ने 'बेतुका' बताया था.

ट्रंप प्रशासन के कार्यकारी आदेश में कहा गया है कि इराक़, सीरिया, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान और यमन से कोई भी व्यक्ति 90 दिनों तक अमरीका नहीं आ सकेंगे.

इसी आदेश के तहत अमरीका के शरणार्थी प्रवेश कार्यक्रम को 120 दिनों के लिए निलंबित कर दिया गया था. साथ ही सीरियाई शरणार्थियों के अमरीका में आने पर अनिश्चतकाल के लिए रोक लगा दी गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे