तुर्की के तीन सैनिकों की मौत पर पुतिन ने मांगी माफ़ी

इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया पर किए गए रूसी हवाई हमले में दुर्घटनावश तुर्की के तीन सैनिक मारे गए हैं. तुर्की की सेना ने यह कहा है.

रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने इस पर शोक जताया है.

तुर्की के ये सैनिक सीरिया के शहर अल बाब से ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी संगठन को खदेड़ने की कोशिश में सीरिया के विद्रोहियों की मदद कर रहे थे.

तुर्की की दक्षिणी सीमा से सटे इलाक़ों से आईएस और कुर्द लड़ाकों को दूर रखने की रणनीति के तहत ऐसा किया जा रहा था.

सीरिया में पहली बार तुर्की और रूस ने किए साझा हमले

तुर्की और रूस के रिश्तों में फिर आई नरमी

इस बार पुतिन को गुस्सा क्यों नहीं आया?

इमेज कॉपीरइट Reuters

रूस और तुर्की दोनों इस लड़ाई में विरोधी खेमों का समर्थन कर रहे हैं, लेकिन आईएस को निशाना बनाने में एक साथ हैं.

तुर्की सेना ने कहा है कि रूसी हवाई जहाज़ ने उस मकान पर हमला किया जिसमें उसके कुछ सैनिक तैनात थे.

तुर्की सेना ने कहा, "हालांकि योजना आईएस को निशाना बनाने की थी, लेकिन मकान पर बम गिराए गए और हमारे तीन सैनिक इसमें शहीद हो गए."

क्रेमलिन ने एक बयान जारी कर कहा है कि पुतिन ने तुर्की के राष्ट्रपति रचेप तैयप एर्दोआन से "टेलीफ़ोन पर बात कर इस त्रासद घटना पर शोक जताया."

दो साल पहले तुर्की ने सीरिया सीमा के पास एक रूसी जेट को मार गिराया था. इससे दोनों देशों के रिश्तों में कड़वाहट आ गई थी. बाद में दोनों देशों के संबंध सुधरे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)