इराक़ः पुलिस और शिया समुदाय के बीच झड़प, 5 मौतें

इमेज कॉपीरइट EPA

इराक़ की राजधानी बग़दाद में शिया धर्मगुरू मुक्तदा अल सद्र के समर्थकों और पुलिस के बीच हुई झड़पों में कम से कम पांच लोग मारे गए हैं.

एक रैली में शामिल दसियों हज़ार प्रदर्शनकारियों ने सरकार के भ्रष्टाचार की आलोचना की और चुनाव सुधारों की मांग की.

हिंसक झड़पों के कुछ घंटे बाद बग़दाद के अति सुरक्षित इलाक़े ग्रीन ज़ोन में कई राक़ेट भी दागे गए हैं.

अभी ग्रीन ज़ोन में रॉकेट हमले में किसी के मारे जाने या घायल होने की जानकारी नहीं मिली है.

वीडियो- बग़दाद में दहली ज़िंदगियां

वीडियो- बग़दाद में प्रदर्शन

बग़दाद के इस इलाक़े में सरकारी इमारतें और विदेशी दूतावास हैं.

इससे पहले शनिवार को हज़ारों प्रदर्शनकारियों ने चुनाव सुधारों की मांग करते हुए प्रदर्शन किया.

इमेज कॉपीरइट EPA

भीड़ के काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे हैं. पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़पों में दो सौ लोग घायल हुए हैं.

प्रदर्शनकारी, जिनमें से अधिकतर ताक़तवर शिया धर्मगुरू मुक्तदा अल सद्र के समर्थक हैं, देश के चुनाव आयोग में सुधार चाहते हैं.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि चुनाव आयोग निष्पक्ष नहीं है क्योंकि उसके सदस्य किसी न किसी राजनीतिक पार्टी से जुड़े हुए हैं.

अभी ये साफ़ नहीं हो सका है कि बग़दाद के ग्रीन ज़ोन इलाक़े में रॉकेट हमले किसने किए हैं.

हालांकि सैन्य अधिकारियों का कहना है कि कई राकेट पूर्वी ज़िले बालादियत से दागे गए हैं. इस इलाक़े में मुक्ता अल सद्र के समर्थकों की भारी मौजूदगी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)