'महिला एजेंटों' ने उत्तर कोरियाई नेता के भाई को 'मारा'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption किम जोंग नैम ने ज़्यादातर समय उत्तर कोरिया के बाहर बिताया (2010 की तस्वीर)

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई की मलेशिया में हवाई अड्डे पर बिल्कुल फिल्मी अंदाज़ में 'हत्या' कर दी गई है.

दक्षिण कोरिया के एक केबल टीवी चैनल के अनुसार किम जोंग नैम को कुआलालंपुर हवाई अड्डे पर दो महिला जासूसों ने ज़हर बुझे सूईयों का निशाना बनाया.

इन महिलाओं को उत्तर कोरियाई एजेंट बताया जा रहा है.

बीबीसी इन ख़बरों की स्वतंत्र तौर पर पुष्टि नहीं कर सका है. समाचार एजेंसियाँ दक्षिण कोरियाई सूत्रों के हवाले से इस हत्या का ब्यौरा दे रही हैं.

मलेशिया की पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि हवाई अड्डे पर एक उत्तर कोरियाई व्यक्ति हॉस्पिटल ले जाते वक़्त मारा गया मगर उन्होंने उसकी पहचान प्रकट नहीं की है.

उत्तर कोरिया में किम जोंग-उन के पांच साल

उत्तर कोरिया के नेता ने अपने फूफा को दी फांसी

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल में टीवी चैनलों पर दिखाई जा रही ख़बर

'ज़हरीली सुईयों' से हमला

दक्षिण कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी योनहैप के अनुसार 45 वर्षीय किम पर दो अज्ञात महिला एजेंटों ने ज़हरीली सुइयों से हमला किया.

एजेंसी के अनुसार संदिग्ध हमलावर घटनास्थल से भाग गए.

किम जोंग नैम की मारे जाने की पुष्टि होती है तो ये 2013 में किम जोंग उन के एक समय में काफ़ी प्रभावशाली रहे चाचा जांग सोंग थेक को मौत की सज़ा दिए जाने के बाद किसी बड़ी उत्तर कोरियाई शख़्सियत के मारे जाने की पहली घटना होगी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पिता किम जोंग इल और वर्तमान उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन

कभी उत्तराधिकारी रहे थे

किम जैंग नैम उत्तर कोरिया के पूर्व नेता किम जोंग इल के सबसे बड़े बेटे हैं. वे विदेश में रह रहे थे, और मुख्य रूप से मकाउ उनकी रिहाईश थी.

योनहैप के अनुसार उनकी मां दक्षिण कोरिया की एक अभिनेत्री थीं जिनकी मॉस्को में मौत हो गई. किम जोंग इल ने उनकी मां से शादी नहीं की थी.

उनके पिता किम जोंग इल ने 1994 से 2011 में अपनी मृत्यु तक उत्तर कोरिया पर शासन किया.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption किम जोंग इल 1994 से 2011 तक उत्तर कोरिया के नेता रहे थे

पहले भी हुई थी मारने की कोशिशें

बताया जाता है कि किम जोंग नैम की हत्या की पहले भी कोशिशें हुई थीं.

ऐसा कहा जाता है कि 2012 में दक्षिण कोरिया में पकड़े गए उत्तर कोरिया के एक जासूस ने ये स्वीकार किया था कि उसने किम जोंग नैम को एक सड़क हादसे में मारने की साज़िश रची थी.

2001 में किम जोंग नैम को एक जाली पासपोर्ट पर जापान जाने की कोशिश करते हुए पकड़ा गया था.

उन्हें अपने पिता का संभावित उत्तराधिकारी माना जाता था, मगर बताया जाता है कि इस घटना के बाद उन्हें उतना पसंद नहीं किया जाने लगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)