मासूम दिखने वाली 'जासूस' स्मार्ट गुड़िया से सावधान

केयला इमेज कॉपीरइट Getty Images

जर्मनी की टेलीकम्युनिकेशन मामलों की सरकारी एजेंसी ने अभिभावकों से बातचीत करने वाली गुड़िया 'केयला' को नष्ट करने को कहा है, क्योंकि इसके अंदर की स्मार्ट तकनीक से निजी डेटा की जानकारी हैकरों के हाथ लगने का ख़तरा है.

स्मार्ट डॉल केयला एक ऐसी गुड़िया है, जो सवाल पूछे जाने पर इंटरनेट एक्सेस कर जवाब दे सकती है.

मान लीजिए अगर बच्चा केयला से पूछता है कि 'जर्मनी की राजधानी क्या है?' तो ये गुड़िया इंटरनेट एक्सेस कर जवाब देगी 'बर्लिन'.

स्मार्टफ़ोन के माइक और कैमरा से है ख़तरा!

स्मार्टफ़ोन ऐप से खोज निकालें छिपा कैमरा !

शोधकर्ताओं का कहना है कि हैकर इस गुड़िया के असुरक्षित ब्लूटूथ के ज़रिए बच्चों से बातें कर सकते हैं या उनकी बातें सुन सकते हैं.

लेकिन यूके खिलौना विक्रेता संघ ने कहा है कि केयला से 'कोई ख़ास ख़तरा' नहीं है.

'माय फ्रेंड केयला' नाम की इस गुड़िया की विक्रेता कंपनी विविड टॉय ग्रुप कह चुकी है कि हैकिंग के छिट-पुट किस्से हुए थे और इनमें हैकिंग विशेषज्ञों ने की थी.

लेकिन विशेषज्ञों की चेतावनी है कि अभी तक हैकिंग के ख़तरे का समाधान नहीं निकाला गया है.

कई शिकायतें

केयला की इस कथित कमज़ोरी का पता जनवरी 2015 में लगा था. इसके बाद अमरीका और यूरोपीय संघ के उपभोक्ता समूहों ने शिकायतें भी दर्ज कराई हैं.

स्मार्टफ़ोन पर वाई-फ़ाई पासवर्ड कैसे ढूंढें

यूरोपीय संघ के न्याय, उपभोक्ता और लैंगिक समानता विभाग की कमिश्नर वेरा जूरोवा ने बीबीसी से कहा ,"बच्चों की निजता और सुरक्षा पर इंटरनेट से कनेक्टेड इस गुड़िया के असर को लेकर मैं चिंतित हूं. "

कमीशन जांच कर रहा है कि कहीं ये स्मार्टडॉल यूरोपीय संघ के डेटा सुरक्षा नियमों का उल्लंघन तो नहीं कर रही.

यूनिवर्सिटी ऑफ़ सारलैंड के छात्र स्टीफ़न हेसल ने 'माय फ्रेंड केयला' को लेकर कानूनी सवाल खड़े किए थे.

उन्होंने जर्मन वेबसाइट नेट्ज़पॉलिटिक डॉट ओआरजी से कहा कि 10 मीटर के घेरे में ब्लूटूथ एनेबल्ड डिवाइस के ज़रिए केयला से कनेक्ट किया जा सकता है, इसका मतलब है कि दूसरे कमरे में खड़े होकर कोई भी गुड़िया से खेल रहे बच्चे की जासूसी कर सकता है.

हालांकि केयला को बनाने वाली कंपनी जेनेसिस टॉयज़ ने अभी इस चेतावनी पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे