'हत्या की संदिग्ध को लगा वो 'प्रैंक' में शामिल हैं'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption किम जोंग नम उत्तर कोरिया की सत्ता के आलोचक रहे हैं.

उत्तर कोरिया के नेता किं जोंग उन के सौतेले भाई किंग जोंग नम की हत्या के मामले में पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार की गई इंडोनेशियाई महिला को लगा कि वो किसी प्रैंक (मज़ाक) का हिस्सा हैं.

माना जा रहा है कि किम जोंग नम की मलेशिया में फ़्लाइट का इंतज़ार करते वक्त हत्या कर दी गई थी.

कोरियाई मीडिया के अनुसार दो महिलाओं ने ज़हर देकर जोंग नम की हत्या की.

उत्तर कोरिया: किम जोंग के भाई की हत्या की यह है कहानी

'महिला एजेंटों' ने उत्तर कोरियाई नेता के भाई को 'मारा'

इस मामले में अब तक दो महिलाओं और एक पुरुष को गिरफ़्तार किया गया है.

इमेज कॉपीरइट REX/SHUTTERSTOCK
Image caption हत्या के मामले में गिरफ़्तार महिला

इंडोनेशिया के राष्ट्रीय पुलिस प्रमुख ने कहा कि इनमें से एक महिला सिती ऐसयाह ने दावा किया कि वो इसे मज़ाक समझ रही थीं और उसमें हिस्सा लेने के लिए उन्हें पैसे दिए गए थे.

पुलिस का मानना है कि किम जोंग नम के चेहरे पर ज़हर छिड़का गया था.

इंडोनेशिया के वरिष्ठतम पुलिस अधिकारी टीटो कैर्निवियन ने कहा कि ये दो महिलाएं पहले भी अन्य लोगों के साथ मज़ाक कर चुकी हैं जिसमें वो लोगों को पानी छिड़कने के लिए आंखें बंद करने के लिए मना लेती थीं.

उन्होंने कहा कि कुछ डॉलर लेकर इन महिलाओं ने पहले भी ऐसा मज़ाक किया था, लेकिन किम जोंग नम के वक्त कथित तौर पर स्प्रे में कुछ ख़तरनाक तत्व मिला दिए गए हो सकते हैं.

कार्निवयन ने कहा, "वो नहीं जानती थीं कि ये हत्या के लिए विदेशी एजेंटों की कथित कोशिश है."

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption किम जोंग नम की हत्या के बाद पहली बार उत्तर कोरिया की सरकार की तरफ़ से आधिकारिक बयान जारी किया गया है. बयान में किम जोंग नम की नाम से पहचान नहीं की गई.

उत्तर कोरिया ने मलेशिया से अपने नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई के शव की मांग की है.

मलेशिया में उत्तर कोरिया के राजदूत ने कहा है कि शव के पोस्टमॉर्टम को हरी झंडी नहीं दी गई है और उत्तर कोरिया पोस्ट मॉर्टम की रिपोर्ट को नहीं मानेगा.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption किम जोंग नम ने ज़्यादातर समय उत्तर कोरिया के बाहर बिताया (2010 की तस्वीर)

वहीं मलेशिया ने कहा है कि जब तक किम जोंग नम के परिवार की तरफ़ से डीएनए सैम्पल नहीं मिल जाता तब तक शव नहीं सौंपेगे.

दक्षिण कोरिया की ख़ुफ़िया एजेंसी ने आरोप लगाया है कि प्योंगयांग कई सालों से नम की हत्या करवाना चाहता था, लेकिन उन्हें चीन से सुरक्षा मिली हुई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)