फ़्लोरिडा की रैली में मीडिया पर जमकर बरसे ट्रंप

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने फ़्लोरिडा में अपनी रैली में मीडिया पर एक और तीखा हमला किया है.

उन्होंने रैली में अपने समर्थकों से कहा कि मीडिया सच नहीं दिखाना चाहती और अपने एजेंडे पर काम कर रही है.

फ़्लोरिडा के मेलबर्न में ट्रंप को सुनने के लिए वैसी ही भीड़ जुटी जैसी चुनाव प्रचार के दौरान हुआ करती थी और उन्होंने भी कैंपेन स्टाइल में ही लोगों को संबोधित किया.

ट्रंप इससे पहले भी अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया को आड़े हाथों ले चुके हैं.

जब बीबीसी पत्रकार पर भड़के ट्रंप

उनके राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ़्लिन ने इसी हफ्ते विवादों में घिरने के बाद अपना पद छोड़ दिया था. ट्रंप को नए सलाहकार की नियुक्ति के लिए रविवार को उम्मीदवारों का इंटरव्यू करना है.

ट्रंप का ज़ोरदार स्वागत

ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया जब फ्लोरिडा पहुंचे तो उनके हज़ारों समर्थकों ने उनका ज़ोरदार स्वागत किया.

नवंबर में हुए चुनाव में ट्रंप यहां विजयी रहे थे. हालांकि उनका विरोध करनेवाले प्रदर्शनकारी भी उनके काफ़िले के रास्ते में मौजूद थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अपने भाषण में राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि वो अमरीकियों से बिना झूठी ख़बरों की आड़ के सीधे संवाद करना चाहते हैं.

क्यों जारी है ट्रंप की दिमागी हालत पर बहस

उन्होंने मीडिया को बेईमान बताते हुए कहा कि कुछ मीडिया संस्थान सच्चाई नहीं छापना चाहते और उनके बारे में बनाकर ख़बरें छाप रहे हैं.

उन्होंने कहा कि वो मीडिया की सच्चाई सामने लाना जारी रखेंगे.

'इस्लामिक स्टेट का सफ़ाया'

अपने भाषण में राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने चुनावी वादे को दोहराया कि वो अमरीका को सुरक्षित बनाएंगे और सीमा को मज़बूत करेंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि वो अमरीकियों को अच्छा हेल्थकेयर प्लान देंगे और ओबामा के सुधारों को पलट देंगे.

उन्होंने अपने प्रशासन के बुरे हाल में होने के दावों का खंडन किया और कहा कि व्हाइट हाउस का कामकाज सुचारू रूप से चल रहा है.

उन्होंने कहा कि वो ब्यूरोक्रेसी का आकार छोटा करेंगे और प्रशासन में जो कमियां हैं उसे दूर करेंगे.

मीडिया पर बरसे ट्रंप, छवि बिगाड़ने का आरोप

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि ऐसी योजना बनाई जाएगी जिससे इस्लामिक स्टेट का सफ़ाया किया जा सके.

उन्होंने कहा कि अमरीका में और नौकरियां पैदा की जाएंगी और सेना का पुनर्गठन किया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे