24 घंटे में 27 हार्ट अटैक, पर आदमी ज़िंदा है

कई बार ऐसे चमत्कार होते हैं जिन पर भरोसा नहीं होता. ऐसा ही एक चमत्कार ब्रिटेन में देखने को मिला है, जिस पर आप शायद ही यक़ीन कर पाएं.

ब्रिटेन के रे वुडहाल को 24 घंटे के अंदर 27 बार हार्ट अटैक हुआ लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें बचा लिया.

वूरस्टेरशायर में 54 साल के रे वुडहाल 'वाकिंग फुटबॉल' खेल रहे थे. ब्रिटेन में बढ़ती उम्र के लिए धीमे अंदाज में खेला जाने वाला खेल है वॉकिंग फुटबॉल.

अचानक से उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वे गिर गए. उनके साथियों ने नेशनल हेल्थ सर्विस के हेल्पलाइन में इसकी जानकारी दी.

दिल बचाने के लिए 'सभी को चाहिए दवा'

कैल्शियम की दवा से पड़ सकता है दिल का दौरा

उन्हें वूरेस्टरशायर रॉयल अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों को उनकी मुख्य धमनी में दो स्टेंट लगाने पड़े.

लेकिन असली मुश्किल इसके बाद शुरू हुई. वुडहाल को एक के बाद एक करके 26 बार हार्ट अटैक आया. इसके बावजूद वे अपनी कहानी दुनिया को बताने के लिए जीवित हैं.

बीबीसी के फ़ाइव लाइव कार्यक्रम में बातचीत के दौरान वुडहाल बताते हैं कि उस दौरान उन्हें लगा था कि वे गहरी नींद में सो चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट WORCESTERSHIRE ROYAL HOSPITAL
Image caption रे वुडहाल वूरेस्टरशायर रॉयल अस्पताल के डॉक्टरों के साथ, बीच में शर्ट पहने गले में स्टेथोस्कोप डाले हुए

वुडहाल ने बताया, "जब मुझे होश आया तो मैंने अस्पताल के स्टाफ़ से नींद में चले जाने के लिए माफ़ी मांगी तो उन्होंने मुझे बताया कि आप सोए नहीं थे, आप तो मर चुके थे, हमने आपको जाने नहीं दिया."

उन्हें कैसे बचाया गया, इसके बारे में वुडहाल ख़ुद कहते हैं, "एक नर्स ने मुझसे इस बात के माफ़ी मांगी कि उन्होंने मेरी छाती को कई बार जोरों से दबाया था."

उड़ते विमान में पायलट को पड़ा दिल का दौरा

वैसे वुडहाल की स्थिति बिगड़ती देख अस्पताल ने अपने छह विशेषज्ञों की टीम को तैनात किया था. यही वजह है कि वुडहाल को बचाया जा सका, हालांकि उन्हें पूरी तरह ठीक होने में अभी छह महीन लगेंगे. ये हादसा दिसंबर, 2016 का है.

वूरेस्टरशायर रॉयल अस्पताल की कार्डियोलॉजी की टीम इसके लिए बधाई की पात्र है, लेकिन वुडहॉल के मामले ने एक बार साबित कर दिया है कि अगर वक्त रहते हार्ट अटैक के मरीज को इलाज मिल जाए तो उनका जीवन बचाया जा सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)