पहचान बताई कहा गया 'अब घर मत आना'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
आठ साल के संघर्ष के बाद अंजलि लामा ने हासिल किया मुकाम

नेपाल की अंजलि लामा, अपने देश की पहली ट्रांसजेंडर मॉडल हैं.

इस मुकाम को हासिल करने के लिए उन्होंने एक दो नहीं, बल्कि पूरे आठ साल का संघर्ष किया, लेकन हर नाकामी ने उनका हौसला बढ़ाया.

उन्होंने बीबीसी को बताया, "मैंने मॉडलिंग तो 2009 से शुरू की थी, मैंने ढेरों जगह ऑडिशन दिए लेकिन कहीं मेरा सेलेक्शन नहीं होता था. लोग कहते थे कि ट्रांसजेंडर है, लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी."

पाकिस्तान की पहली ट्रांसजेंडर मॉडल

अंजलि की लगातार कोशिशों ने उनके लिए रास्ते भी खोल दिए, पहले उन्हें छोटा मोटा माडलिंग का काम मिला और हाल ही में उन्हें भारत के टॉप फ़ैशन शो में हिस्सा लेने का मौका मिला.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

लेकिन ये सब इतना आसान भी नहीं रहा. अंजलि अपने अनुभव के बारे में बताती हैं, "बचपन में मुझे लड़कियों के कपड़े पहनना अच्छा लगता था. स्कूल में शोषण का शिकार हुआ. मेरे साथी और टीचर कहते थे, लड़का हो कर लड़की जैसा करता है. मैं सोचता था कि क्या करूं, ख़ुद को बदलने की कोशिश भी की लेकिन वो नहीं हो पाया."

मॉडलों को फेल करते ये ट्रांसजेंडर

और फिर एक दिन अंजलि ने जब ट्रांसजेंडरों को देखा तो उन्हें अपनी पहचान का पता चला. उन्होंने जब घर में ये बात बताई तो क्या हुआ, "मेरे भाई ने कहा कि आज के बाद घर मत आना."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अंजलि ट्रांसजेंडर लोगों से अपील भी करती हैं, "अपनी पहचान छिपाइए नहीं, समाने आइए, घर वालों से लड़िए, समाज से लड़िए. एक-दो दिन मुश्किल होगी, लेकिन बाद में सब ठीक हो जाएगा. आप जो करना चाहती हैं, करिए. आपको अच्छा महसूस होगा और आप जहां पहुंचना चाहती हैं, वहां पहुंच सकती हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे