पहली बार लंदन की सुरक्षा एक महिला के हाथ

क्रेसिडा डिक इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्रेडिसा डिक को लंदन की नई मेट्रोपोलिटिन कमिश्नर बनाया गया है. लंदन पुलिस बल की कमान संभालने वाली वह पहली महिला हैं. क्रेसिडा ने सर बर्नार्ड होगन-हाव की जगह ली है. होगन के पास 2011 से लंदन पुलिस बल की कमान थी. पिछले साल उन्होंने रिटायरमेंट की घोषणा की थी.

इससे पहले डिक आतंकवाद निरोधी राष्ट्रीय पुलिस का नेतृत्व कर रही थीं, लेकिन उन्होंने विदेशी विभाग में जाने के लिए मेट्रोपॉलिटन पुलिस छोड़ दिया था. डिक ने कहा, ''मैं इस नियुक्ति को लेकर लेकर रोमांचित और आभारी हूं. मैं मेट्रोपॉलिटन पुलिस में एक बार फिर से काम करने को लेकर उत्साहित हूं.''

पाक में लिया आतंकवादी प्रशिक्षण:

लंदन में लोगों पर हमला, एक औरत की मौत

ब्रिटेन: ऐशियाई नौजवानों ने पुलिस से पूछे कड़े सवाल

56 साल की डिक ने 31 सालों तक मेट्रोपॉलिटन पुलिस में काम करने के बाद दिसबंर 2014 में छोड़ा था. ब्रिटेन के गृह मंत्रालय की ख़बरें करनेवाले बीबीसी संवाददाता का कहना है कि डिक की कमिश्नर पद पर नियुक्ति बिना विवाद के नहीं हुई. 2005 में लंदन धमाके के दो हफ़्ते बाद ब्राज़ील के एक बेगुनाह इलेक्ट्रिशियन जीन चार्ल्स को गोली मार दी गई थी. तब उस ऑपरेशन का नेतृत्व डिक ही कर रही थीं.

बाद में पाया गया कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने इस मामले में हेल्थ और सेफ्टी नियमों को तोड़ा था. हालांकि इसमें क्रेसिडा डिक पर कोई निजी दोष नहीं मढ़ा गया था.

नेशनल पुलिस चीफ़ काउंसिल चेयरवुमन सारा थॉर्नटन, एसेक्स पुलिस चीफ कॉन्स्टेबल स्टीफ़न कावनाग और स्कॉटलैंड यार्ड के मार्क रॉवले के बाद डिक को इस अहम जिम्मेदारी के लिए चुना गया है. डिक ने अपने बयान में कहा, ''यह एक अहम जिम्मेदारी है और शानदार मौका है. मैं लंदन के लोगों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदारी निभाने को तैयार हूं. उन सभी को शुक्रिया जिन्होंने मेरे बारे में सोचा और मेरे साथ खड़े रहे.''

गृह सचिव अंबेर रुड ने कहा, ''डिक में ख़ास क्षमता है. उनके पास मेट्रोपॉलिटन पुलिस के लिए स्पष्ट दृष्टि है. वह लंदन के लोगों को अच्छी तरह से समझती हैं.'' लंदन के मेयर सादिक ख़ान ने कहा है कि डिक इस पद के लिए बेहतरीन हैं. उन्होंने कहा कि डिक के पास व्यापक अनुभव है. डिक को इसके लिए सवा दो करोड़ की तनख़्वाह मिलेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे