मोसुलः एयरपोर्ट से भागे चरमपंथी, अब लड़ाई मुश्किल

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption एयरपोर्ट पर कब्ज़े के बाद आईएस के एक झंडे के साथ इराक़ी सैनिक

इराक़ी सुरक्षाबलों ने मोसुल शहर के हवाई अड्डे पर नियंत्रण कर लिया है.

इराक़ के दूसरे बड़े शहर को तथाकथित इस्लामिक स्टेट के कब्ज़े से छुड़ाने के इराक़ी सेना के अभियान के लिए इसे महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

इस अभियान में चार घंटे लगे. एक इराक़ी सेना प्रवक्ता ने बताया कि आईएस चरमपंथी इसके बाद भी एयरपोर्ट पर दूर से मोर्टार दागे जा रहे हैं.

प्रवक्ता ने कहा कि जिहादी झड़प के बीच ही पास के एक सैनिक अड्डे में भी प्रवेश कर गए हैं.

पश्चिमी मोसुल को आईएस से मुक्त करने के लिए जंग

मोसुल में इराक़ी सेना ने आईएस को घेरा

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मोसुल के लिए जारी अभियान में हज़ारों इराक़ी सैनिक हिस्सा ले रहे हैं

पश्चिमी मोसुल में लड़ाई

गुरुवार को मिली कामयाबी के बाद अब मोसुल के पूर्वी और दक्षिण-पश्चिम के अधिकतर इलाक़ों पर सेना का नियंत्रण हो चुका है.

शहर के पूर्वी हिस्से को पिछले सप्ताह कब्ज़े में लिया गया था.

हवाई अड्डा शहर के पश्चिमी हिस्से में है जहाँ अभी भी चरमपंथियों का नियंत्रण है.

एयरपोर्ट की मुख्य इमारत और हवाई पट्टी मलबे में बदल चुकी है.

जिहादी अब पश्चिमी मोसुल के आबादी वाले इलाक़ों में चले गए हैं.

संवाददाताओं का कहना है कि वहाँ लड़ाई और मुश्किल होगी.

पश्चिमी मोसुल पूर्वी हिस्से से आकार में छोटा है मगर वहाँ आबादी घनी है और ऐसे इलाक़े हैं जिन्हें आईएस समर्थक माना जाता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption आनेवाले समय में लड़ाई और तेज़ हो सकती है

फँसे हैं लाखों लोग

इस बीच संयुक्त राष्ट्र ने शहर में फँसे आम लोगों को लेकर चिन्ता जताई है.

चैरिटी संस्था सेव द चिल्ड्रेन का अनुमान है कि मोसुल में आठ लाख लोग फँसे हो सकते हैं.

शहर और इसके आस-पास से डेढ़ लाख से ज़्यादा लोग अपने घरों से भाग चुके हैं.

संयुक्त राष्ट्र ने जनवरी में कहा था कि मोसुल में मारे गए लोगों में से लगभग आधे आम लोग थे.

आइएस जिहादियों ने 2014 में इराक़ के उत्तरी और पश्चिमी हिस्सों पर कब्ज़ा करते हुए मोसुल को अपने नियंत्रण में ले लिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे