सीरियाः बम धमाकों में पचास लोगों की मौत

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption तुर्की समर्थित विद्रोहियों ने गुरुवार को अल-बाब पर नियंत्रण किया था.

सीरिया के अल-बाब क़स्बे के नज़दीक विद्रोहियों के क़ब्ज़े वाले एक गांव में हुए बम धमाकों में कम से कम पचास लोग मारे गए हैं.

इस्मालिक स्टेट के हमलावर ने विस्फ़ोटकों से भरी कार से विद्रोहियों की एक सुरक्षा चौकी को निशाना बनाया.

इस हमले में 41 लोग मारे गए और कई लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं. ख़बरों के मुताबिक मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

हमले में मारे गए ज़्यादातर लोग आम नागरिक हैं जो वापस अल-बाब लौटने के लिए सुरक्षा चौकी पर इंतज़ार कर रहे थे.

पहले विस्फ़ोट के कुछ घंटे बाद इस इलाक़े में एक और बम धमाका हुआ जिसमें कम से कम आठ लोग मारे गए.

वीडियोः 'सीरिया का कसाईख़ाना है ये जेल'

वीडियोः सीरिया-जॉर्डन सीमा पर फंसे शरणार्थी

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption फ़ाइल फोटो

हमले का निशाना बना गांव अल-बाब से आठ किलोमीटर दूर है. तुर्की समर्थित विद्रोहियों ने गुरुवार को यहां से इस्लामिक स्टेट को खदेड़ दिया था.

तुर्की का कहना है कि विद्रोही इलाक़े पर पूरी तरह अधिकार हासिल करने के करीब हैं.

अलेप्पो के उत्तर-पूर्व में स्थित अल-बाब में क़रीब एक लाख लोग रह रहे हैं. इसके आसपास के इलाक़ों में भी पचास हज़ार के क़रीब लोग हैं.

अल-बाब 2012 में सीरियाई विद्रोहियों के क़ब्ज़े में आया था. 2014 में इस पर इस्लामिक स्टेट ने नियंत्रण कर लिया था.

तुर्की के राष्ट्रपति रचेप तैय्यप अर्दोआन ने बीते साल कहा था कि अलेप्पो प्रांत में इस्लामिक स्टेट के गढ़ अल-बाब को छुड़ाना रक्का से इस्लामिक स्टेट के खदेड़ने की शुरुआत होगा.

इस्लामिक स्टेट रक्का को अपनी राजधानी मानता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे