ट्रंप का निशाना बने मीडिया के बचाव में उतरे बुश

  • 28 फरवरी 2017
जॉर्ज डब्ल्यू बुश इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने कहा है कि लोकतंत्र के लिए स्वतंत्र प्रेस ज़रूरी है.

बुश ने एनबीसी के टुडे प्रोग्राम को दिए साक्षात्कार में कहा कि सत्ताधारियों की ज़िम्मेदारी तय करने के लिए स्वतंत्र प्रेस की ज़रूरत है.

राष्ट्रपति ट्रंप पद संभालने के बाद से कई मीडिया संस्थानों से उलझ चके हैं.

उन्होंने अपने बारे में आई नकारात्मक रिपोर्टों को फ़र्ज़ी कहा है.

बुश ने ये भी कहा कि डोनल्ड ट्रंप के सहयोगियों और रूस की सरकार के बीच संबंधों के सवालों का जवाब भी अमरीका के लोगों को मिलना चाहिए.

रक्षा बजट में भारी बढ़ोतरी के इरादे में ट्रंप

अमरीका में ट्रंप को पद से हटाने के लिए 'जादू-टोना'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने दिखाए मीडिया के सामने अपने तेवर

बुश ने कहा, "सत्ता की लत लग सकती है और ये बहुत खतरनाक हो सकती है, ऐसे में मीडिया का सत्ता का दुरुपयोग करने वालों को ज़िम्मेदार ठहराना ज़रूरी है."

राष्ट्रपति ट्रंप ने मीडिया के एक वर्ग को 'अमरीका के दुश्मन' की उपाधि दी है.

बुश ने कहा कि उन्होंने अपने राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को ये समझाने की कोशिश की थी उन्हें भी स्वतंत्र मीडिया की ज़रूरत है.

उन्होंने कहा, "दूसरों से स्वतंत्र और निष्पक्ष प्रेस के लिए कहना मुश्किल है जब हम स्वयं ही इसके लिए तैयार नहीं हो."

राष्ट्रपति ट्रंप के प्रेस के साथ रिश्ते बहुत बेहतर नहीं हैं. पद संभालने के बाद से ही वो मीडिया पर निशाना साधते रहे हैं.

व्हाइट हाउस की प्रेसवार्ता से बीबीसी, न्यूयॉर्क टाइम्स बाहर

ट्रंप ने मीडिया को क्यों कहा 'बेईमान'?

इमेज कॉपीरइट EPA

ट्रंप ने कहा है कि वो 29 अप्रैल को होने वाले व्हाइट हाउस कॉरेसपोंडेट्स एसोसिएशन के डिनर में शामिल नहीं होंगे.

शुक्रवार को ट्रंप के प्रवक्ता की बातचीत में बीबीसी, न्यूयॉर्क टाइम्स, सीएनएन, और बज़फ़ीड जैसे संस्थानों के पत्रकारों को शामिल नहीं होने दिया गया था.

पूर्व राष्ट्रपति बुश से राष्ट्रपति ट्रंप के सहयोगियों और रूस की सरकार के संबंधों पर भी सवाल पूछा गया.

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि हम सभी जवाब चाहते हैं. मैं नहीं जानता कि इसका सही तरीका क्या होगा. लेकिन मैं इस बात को लेकर निश्चिंत हूं कि सवालों का जवाब मिलना ही चाहिए."

इमेज कॉपीरइट AP

जब बुश से राष्ट्रपति ट्रंप के प्रवासियों पर रोक लगाने संबंधी एक्ज़ीक्यूटिव आदेश पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, "मैं ऐसी प्रवासी नीति का समर्थक हूँ जो लोगों का स्वागत करे और क़ानून व्यवस्था को बनाए रखे."

बुश ने कहा, "लोगों के पास ये आज़ादी होनी चाहिए कि जिसकी वो चाहें पूजा करें और न चाहें तो न करें."

पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप अपनी किताब पोर्टेट्स ऑफ़ करेजः ए कमांडर इन चीफ़्स ट्रिब्यूट टू अमेरिकाज़ वॉरियर्स का प्रमोशन कर रहे थे.

इस किताब की बिक्री से होने वाली आय 9/11 हमले के पीड़ित परिवारों को दी जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे