किम जोंग हत्या: दो महिलाओं पर मुक़दमा चलेगा

इमेज कॉपीरइट Reuters/AFP

किम जोंग नम की हत्या के आरोप में दो महिलाओं पर मुक़दमा चलेगा.

मलेशिया के अटॉर्नी जनरल मोहम्मद अपानडी अली के अनुसार ये दोनों महिलाएं इंडोनेशिया और वियतनाम से हैं.

अगर इनपर आरोप सिद्ध होते हैं तो इन्हें मृत्युदंड तक दिया जा सकता है.

उत्तर कोरिया के सबसे बड़े नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नम की हत्या बीते दिनों मलेशिया की राजधानी क्वालालंपुर में कर दी गई थी.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
हत्या में रासायनिक ज़हर का इस्तेमाल

माना जा रहा है कि इन दो महिलाओं ने ज़हर देकर किम जोंग नम की हत्या की थी.

जांच से पता चला है कि बेहद ज़हरीले नर्व एजेंट VX से किम की हत्या की गई थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

संयुक्त राष्ट्र ने इस नर्व एजेंट को सामूहिक नरसंहार का हथियार घोषित कर रखा है.

इन महिलाओं का कहना है कि, ''उन्हें लगा कि वह एक टीवी प्रैंक का हिस्सा हैं.''

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नम की हत्या के मामले में पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार की गई इंडोनेशियाई महिला को लगा कि वो किसी प्रैंक (मज़ाक) का हिस्सा हैं.

वियतनाम की 28 वर्षीय डोआन थी हृयूआंग और इंडोनेशिया की 25 वर्षीय सिती आइसिया का नाम उन 10 लोगों की सूची में शामिल है जिन्हें मलेशिया की सरकार ने जोंग की हत्या का मुख्य आरोपी माना है.

यह संदेह जताया जा रहा है कि इस हत्या के पीछे उत्तर कोरिया का हाथ है, हालांकि उत्तर कोरिया ने साफ़ तौर पर इससे इनकार किया है.

बताया जाता है कि किम जोंग नम की हत्या की पहले भी कोशिशें हुई थीं.

ऐसा कहा जाता है कि 2012 में दक्षिण कोरिया में पकड़े गए उत्तर कोरिया के एक जासूस ने ये स्वीकार किया था कि उसने किम जोंग नम को एक सड़क हादसे में मारने की साज़िश रची थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption किम जोंग नम अपने पिता के साथ 1981 में

'हत्या की संदिग्ध को लगा वो 'प्रैंक' में शामिल हैं

'किम की हत्या उत्तर कोरिया की क्रूरता का संकेत'

'किम जोंग नम की हत्या के पीछे उत्तर कोरिया'

2001 में किम जोंग नम को एक जाली पासपोर्ट पर जापान जाने की कोशिश करते हुए पकड़ा गया था.

मलेशियाई पुलिस के प्रमुख खालिद अबू बकर ने कहा कि पुलिस को तीन संदिग्ध उत्तर कोरियाई लोगों की तलाश है. उनका कहना था है कि ये संदिग्ध अभी भी देश में हो सकते हैं.

इन लोगों में से एक क्वालालंपुर में उत्तर कोरियाई दूतावास में हयान क्वांड सांग नाम के सेकेंड सेक्रेटरी हैं. दूसरा, किम उक द्वितीय उत्तर कोरिया की सरकारी विमान सेवा में काम करते हैं. तीसरे का नाम री जी यू है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)