सीरिया: प्रतिबंध की कोशिश, रूस और चीन के वीटो

  • 1 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption संयुक्त राष्ट्र जांचकर्ताओं का कहना है कि सीरिया की सरकर ने तीन बार रासायनिक हथियारों से हमले किए हैं.

रूस और चीन ने रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के आरोप में सीरिया पर वैश्विक प्रतिबंध लगाने के पश्चिमी देशों के नए प्रयासों को खारिज कर दिया है.

ये सातवां मौका है जब रूस ने सीरिया पर प्रतिबंध लगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में रखे गए प्रस्ताव पर वीटो किया है.

दूसरी ओर चीन ने भी सीरिया में 2011 से जारी गृहयुद्ध के बाद से छह बार इस तरह के सुरक्षा परिषद प्रस्तावों को दरकिनार किया है.

सीरिया ने सन् 2013 में रूस और अमरीका के बीच हुए समझौते के तहत अपने रासायनिक हथियारों को नष्ट करने की सहमति दी थी.

सीरिया में रुसी रणनीति कितनी कामयाब?

सीरिया: विद्रोही एलेप्पो छोड़ने पर राज़ी

इमेज कॉपीरइट Reuters

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का कहना है कि सीरिया के खिलाफ प्रतिबंध 'पूरी तरह से अनुचित' होंगे. उनका कहना था कि 'इससे केवल शांति वार्ता को नुकसान और विश्वास को ठेस पहुंचेगी.'

हालांकि संयुक्त राष्ट्र में अमरीकी राजदूत निकी हैले का कहना है कि 'यह एक निराशाजनक दिन है दुनिया अब निश्चित रूप से अधिक ख़तरनाक जगह है.'

ब्रिटिश राजदूत मैथ्यू रिक्राफ्ट ने कहा है कि 'रसायनिक हथियारों के इस्तेमाल के ख़िलाफ़ कार्रवाई न करना अंतरराष्ट्रीय नियमों के उल्लंघन को रोकने के विश्वास को कमजोर बना रहा है साथ ही हमलों की चपेट में आने वाले सीरिया के लोगों के भरोसे को भी नुकसान पहुंचा रहा है.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)