पंद्रह डॉलर रोज़ाना ख़र्च कर घूमें पूरी दुनिया

  • 2 मार्च 2017
डेनमार्क के सैलानी हेनरिक येपीसेन इमेज कॉपीरइट HENRIK JEPPESEN
Image caption यमन के सोकोत्रा द्वीप पर हेनरिक येपीसेन

क्या आप सिर्फ़ 15 डॉलर रोज़ाना खर्च कर दुनिया के दूरदराज के इलाक़ों की सैर कर सकते हैं?

वह भी तब जब इसमें हवाई जहाज़ का किराया, रहने और खाने-पीने पर होने वाला खर्च और वीज़ा फ़ीस भी शामिल हो.

कोई कहेगा, बिल्कुल नामुमकिन. पर यह पूरी तरह संभव है. यक़ीन न हो तो डेनमार्क में रहने वाले 28 साल के हेनरिक येपीसेन से पूछ लें.

दुनिया को चौंकाने वाले 5 यात्रियों का सफ़र

वो शहर जिसने दुनिया को अलजेब्रा दिया

इमेज कॉपीरइट HENRIK JEPPESEN
Image caption हेनरिक येपीसेन को उत्तर कोरिया बेहद पसंद आया

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक़, अप्रैल 2016 तक उन्होंने 193 दशों का सफ़र कर लिया था. वे सिर्फ़ 28 साल के हैं और ऐसा करने वाले वे शायद सबसे कम उम्र के शख़्स हैं.

उन्होंने 3,000 दिनों की यात्रा पर कुल मिला कर 50,000 यूरो ख़र्च किए. उन्होंने बीबीसी को इतने कम पैसे में सैर करने के गुर भी बताए.

5 शहर जहां सबसे ज़्यादा पर्यटक जाते हैं

डेटिंग के लिए दुनिया के 5 बेहतरीन शहर

इमेज कॉपीरइट HENRIK JEPPESEN

येपीसन का कहना है कि वे सस्ते एयरलाइंस पर नज़र रखते हैं और ज्यों ही वे रियायत पर टिकट देने का एलान करते हैं, ये तुरंत टिकट कटा लेते हैं.

हवाई सफ़र

उन्होंने इस तरीके से डेनमार्क से अफ़्रीका का टिकट छह डॉलर और ऑस्ट्रेलिया से मलेशिया का टिकट ढाई डॉलर में ले लिया.

वे कहते हैं, "इसके लिए आपको सफ़र की तारीख़ और ठिकाने के लेकर लचीला रवैया रखना होता है. आपके पास सामान कम होना चाहिए ताकि अतिरिक्त पैसे नहीं चुकाना पड़े."

इमेज कॉपीरइट HENRIK JEPPESEN
Image caption येपीसेन को लाइबीरिया में एक होटल में टिकना पड़ा, वे लोगों को घरों में रहना पसंद करते हैं

होटल में रहने पर बहुत ज़्यादा ख़र्च पड़ता है. पर येपीसेन ने तय कर रखा है कि वे 100 यूरो से अधिक तो बिल्कुल ख़र्च नहीं करेंगे.

रहने का खर्च

उनकी सलाह है कि स्थानीय लोगों के घरों में ही रहा जाए. वे आपको सोफ़ा या गद्दा तो दे ही देंगे.

येपीसेन सड़क पर चल रहे अनजान आदमी के घर रह चुके हैं और उन्हें कभी कोई दिक्क़त नहीं हुई.

वे यह मानते हैं कि कई बार आपको इतने भले लोग नहीं मिलते हैं.

उनकी सलाह है कि ऐसे में हवाई अड्डे पर ही सो लिया जाए. आपको शांति और सुकून ही तो चाहिए.

इमेज कॉपीरइट HENRIK JEPPESEN
Image caption येपीसेन एक बार एक हादसे के शिकार हो गए, वैसे उन्हें लिफ़्ट देने वाले मिल जाते हैं

येपीसेन का मानना है कि कार या टैक्सी नहीं ली जानी चाहिए. वे सड़क किनारे खड़े-खड़े वहां चल रही गाड़ियों से हज़ारों बार लिफ़्ट ले चुके हैं.

हैती में हादसा

वे सिर्फ़ एक बार हैती में एक हादसे का शिकार हो गए थे. इसलिए वे कहते हैं कि थोड़ा सावधान रहने की ज़रूरत है. पर कोई ख़ास दिक्क़त नहीं होती है.

इस मामले में उन्हें ब्रिटेन, बेल्जियम और चीन सबसे अच्छे लगे. उनका कहना है कि कुछ न मिले, बस तो मिल ही जाएगी.

इमेज कॉपीरइट HENRIK JEPPESEN
Image caption अपने ब्लॉग में रेस्तरां के बारे में लिखिए, वहां मुफ़्त खाना खाइए

येपीसेन सुपरमार्केट से चीजें ख़रीद कर खाने की सलाह देते हैं. उनका कहना है कि ये चीजें निहायत ही सस्ती होती हैं.

स्पॉन्सरशिप

वे एक ब्लॉग लिखते हैं और जिन रेस्तरां के बारे में उनमें लिखते हैं, वे उन्हें उसके बदले मुफ़्त खाना खिला देते हैं.

वे इन कंपनियों से क़रार कर लेते हैं कि वे अपने सोशल मीडिया साइट्स पर भी उनका प्रचार करेंगे. उन्होंने यह तरीका 2012 में सीखा.

ये कंपनियां येपीसेन को हवाई जहाज़ के टिकट और होटलों में रहने के पैसे भी देती हैं.

इमेज कॉपीरइट HENRIK JEPPESEN
Image caption येपीसेन कहते हैं, सोशल मीडिया पर कंपनी का प्रचार कीजिए और वो आपको स्पॉन्सर कर देगी

आप सफ़र के दौरान किसी का प्रचार कर दीजिए और वह आपको स्पॉन्सर कर दे. मसलन, येपीसेन को स्पेन की राजधानी मैड्रिड में एक सुपर लग्ज़री होटल ने अपने यहां टिकाया और बदले में एक पैसा भी उनसे नहीं लिया.

सीरिया में लड़ाई छिड़ी हुई थी और वे इस मौके पर वहां घूमने चले गए. वे कहते हैं कि पूरे दमिश्क में वे अकेले सैलानी थे.

येपीसेन ने कहा, "मैंने उन्हें लिखा कि वे मुझे अपने होटल में मुफ़्त में रहने दें और मैं उनके बारे में अपने ब्लॉग लिख दूंगा. वह कंपनी राजी हो गई."

एक कंपनी ने उन्हें पुर्तगीज़ एयरलाइन ने मैड्रिड से ब्राज़ील तक का टिकट कटा दिया. येपीसेन कहते हैं कि यह यात्रा उनका अंतिम सफ़र है.

वे सुझाव देते हैं कि आपको घूमते फिरते ज़िंदगी बिताना है तो ब्लॉग लिखिेए, सोशल मीडिया एकाउंट रखिए और स्पॉन्सर करने वालों को खोजिए.

वे तो यही करते हैं और इसी सहारे पूरी दुनिया घूम चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)