अमरीका में पगड़ीधारी सिख पर हमला

  • 5 मार्च 2017
सिख व्यक्ति, प्रतीकात्मक तस्वीर इमेज कॉपीरइट JEWEL SAMAD/AFP/GettyImages

अमरीका के सिएटल में पुलिस एक पगड़ीधारी सिख को गोली मारने वाले बंदूकधारी की तलाश कर रही है.

सिएटल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक 39 वर्षीय एक सिख व्यक्ति के हाथ में गोली लगी है और हमलावर उन्हें 'अपने देश वापस लौटने के लिए' कह रहा था.

समाचार एजेंसी एपी ने घायल सिख के हवाले से बताया कि वह शुक्रवार को रात आठ बजे ड्राइववे पर काम कर रहे थे कि तभी एक अनजान व्यक्ति उसके पास आया और किसी बात पर उनके बीच बहस हुई.

पीड़ित का कहना है कि हमलावर गठीले बदन का गोरा व्यक्ति था जिसकी लंबाई छह फुट के करीब रही होगी. उसने नकाब से चेहरे के निचले आधे हिस्से को ढक रखा था.

केंट पुलिस ने सिएटल टाइम्स को बताया कि इस सिलसिले में एफ़बीआई और दूसरी सुरक्षा एजेंसियों से संपर्क किया गया है.

दिलेर मददगार को भारत यात्रा का न्यौता

श्रीनिवास के अंतिम संस्कार में उमड़े लोग

इमेज कॉपीरइट Scott Olson/Getty Images

केंट के पुलिस चीफ केन थॉमस ने कहा, "हमारी जांच अभी शुरुआती चरण में है. हम इसे एक गंभीर घटना के तौर पर देख रहे हैं."

अख़बार ने नजदीक के उपनगरीय इलाके रेंटॉन में सिख समुदाय के एक नेता जसमीत सिंह के हवाले से कहा है कि पीड़ित को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

उन्होंने कहा, "वे और उनका परिवार बेहद सदमे में हैं. जो कुछ हो रहा है, उस लिहाज से हमारा ही नुकसान है. नफ़रत के इस माहौल में बिना भेद-भाव के लोगों को निशाना बनाया जा रहा है."

अमरीका में सिख समुदाय के लिए काम करने वाले संगठन सिख कोलिएशन ने बताया कि पीड़ित अपनी पहचान जाहिर नहीं करना चाहते और उनकी हालत में सुधार हो रहा है.

ट्रंप की सद्बुद्धि के लिए 'वीज़ा मंदिर' में यज्ञ

'अमरीका ने प्यार छीना, प्यार बांटने लौटूंगी'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
कैनसस में मारे गए श्रीनिवास को लोगों ने दी श्रद्धांजलि

संगठन का कहना है, "इस घटना की जांच एक सिख विरोधी हेट क्राइम के तौर पर की जाए क्योंकि जब तक हमारी सरकार ये नहीं समझेगी कि ये किस तरह की नफ़रत है, हम इस समस्या से नहीं लड़ सकते."

फ़रवरी के आखिरी हफ्ते में अमरीका के कैंसस राज्य के एक रेस्तरां में एक हमलावर ने दो भारतीय समेत तीन लोगों पर गोली चलाई.

इसमें एक भारतीय युवक की मौत हो गई. मरने वाले श्रीनिवास कुचीवोतला पेशे से इंजीनियर थे और भारत के हैदराबाद शहर के रहने वाले थे.

अमरीका में सिख पहले भी हिंसा का शिकार होते रहे हैं. 11 सितंबर, 2001 की घटना के बाद मुसलमानों पर होने वाले हमले की जद में सिख समुदाय के लोग भी आए हैं.

ट्रंप सरकार से जवाब मांग रही है भारतीय विधवा

भारतीय इंजीनियर के मारे जाने की निंदा की ट्रंप ने

अमरीका में भारतीय इंजीनियर की हत्या

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे