ओबामा ने पद का दुरुपयोग किया, जाँच हो: ट्रंप

ट्रंप इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ट्रंप के प्रेस सचिव ने कहा कि राष्ट्रपति अब इस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने संसद से आग्रह किया है कि चुनावी अभियान के दौरान बराक ओबामा ने कार्यकारी शक्तियों का दुरुपयोग किया था या नहीं इसकी जांच की जाए. इससे पहले ट्रंप ने अपने पूर्ववर्ती पर फ़ोन टैप करने का आरोप लगाया था.

ट्रंप के प्रेस सचिव ने कहा कि चुनाव में रूसी हस्तक्षेप के आरोप की भी जांच होनी चाहिए क्योंकि यह काफी गंभीर आरोप है.

ट्रंप ने इस मामले में कई ट्वीट किए हैं लेकिन उन्होंने कोई सबूत मुहैया नहीं कराया है. इस आरोप पर ओबामा के प्रवक्ता ने कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति ने किसी भी अमरीकी नागरिक को सर्विलांस पर रखने का आदेश नहीं दिया था.

ओबामा ने मेरे फ़ोन टैप कराए: डोनल्ड ट्रंप

राष्ट्रपति चुनाव में रूसी समर्थन को लेकर ट्रंप जांच के घेरे में हैं. ऐसे में ट्रंप ने इस हफ़्ते के आख़िरी में अपने घर फ्लोरिडा से ट्वीट कर इस तरह के आरोप लगाए हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption अमरीकी हाउस में अल्पसंख्यक नेता नैंसी पेलोसी ने ट्रंप को घेरा है

ट्रंप ने इस कथित फ़ोन टैपिंग की तुलना निक्सन के वाटरगेट स्कैंडल से की है. वाटरगेट अमरीका में 1972 का प्रमुख राजनीतिक स्कैंडल है. वाटरगेट के बाद राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन को पद छोड़ना पड़ा था.

ट्रंप के इस सनसनीखेज दावे के बाद वहां की दोनों प्रमुख पार्टियों रिपब्लिकन और डेमोक्रेट ने विस्तृत जानकारी मांगी है. फ्लोरिडा से रिपब्लिकन सीनेटर मार्को रूबियो ने रविवार को कहा इस मामले में व्हाइट हाउस को जवाब देना चाहिए कि राष्ट्रपति वास्तव में कह क्या रहे हैं.

हालांकि व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने इस मामले में कोई सबूत नहीं दिया. उन्होंने कहा, ''2016 में चुनाव से ठीक पहले राजनीति से प्रेरित जांच के आदेश दिए गए. राष्ट्रपति ट्रंप ने इस मामले की जांच में अनुरोध किया है कि कांग्रेसनल इंटेलिजेंस कमेटी इस बात की भी जांच करे कि 2016 में कार्यकारी शक्तियों का दुरुपयोग तो नहीं किया गया.''

उन्होंने कहा कि इस मामले में जब तक कुछ ठोस हो नहीं जाता है तब तक न तो व्हाइट हाउस और न ही राष्ट्रपति कोई टिप्पणी करेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे