कैसे खा गया एक कछुआ 900 सिक्के

ग्रीन सी टर्टल 'बैंक' इमेज कॉपीरइट EPA

थाईलैंड में पशु चिकित्सकों ने ऑपरेशन कर एक ग्रीन सी टर्टल के पेट से 900 से अधिक सिक्के निकाले हैं.

अच्छी किस्मत के लिए लोगों के पानी में फेंके गए सिक्कों को कछुए ने निगल लिए थे.

इतनी संख्या में सिक्के निगलने के बाद बैंकॉक के पूर्वी इलाके के एक संरक्षण केंद्र में रखे गए इस कछुए का नाम ही 'बैंक' पड़ गया था.

फ्लिपर लगाकर कछुए को बचाया

अमरीका: कछुआ आगे-आगे पुलिस पीछे-पीछे

इमेज कॉपीरइट EPA

कछुए को बचाने के लिए सात घंटे लंबा ऑपरेशन किया गया. बताया जा रहा है कि यह अपनी तरह का पहला ऑपरेशन है.

इस ऑपरेशन के लिए लोगों से धन इकट्ठा किया गया था.

डॉक्टरों का कहना है कि सिक्कों का भार बढ़ने के कारण कछुए के खोल का निचला हिस्सा फटने लगा था और उसे तैरने में तकलीफ हो रही थी.

कछुआ तालाब में आपका स्वागत है

कछुए को लगाये पहिये और...

इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑपरेशन के बाद डॉक्टरों की टीम में शामिल पाशाकोर्न ब्रिक्सावन ने बताया, "नतीजे संतोषजनक हैं. अब ये बैंक पर है कि वो कितने समय में पूरी तरह से स्वस्थ हो सकती है. ये एक बड़ा ऑपरेशन था और उसे ठीक होने में कुछ वक्त तो लगेगा."

थाईलैंड में कई लोगों का मानना है कि कछुए पर सिक्के फेंकने से लोगों की आयु लंबी होती है.

पानी की कमी ने सिखाया, बगैर पानी के जीना

कछुए को लगाई गई टाइटेनियम की चोंच

इमेज कॉपीरइट Reuters

पशु चिकित्सक नांत्रिका चान्सू कहती है, "जब मुझे बैंक की हालत के बारे में पता चला तो मुझे लोगों पर गुस्सा आया. लोगों ने जानबूझ कर ऐसा किया ये तो पता नहीं, लेकिन इससे कछुए को ही नुकसान पहुंचा है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)