मलेशियाई नागरिकों के उत्तर कोरिया छोड़ने पर रोक

इमेज कॉपीरइट TOSHIFUMI KITAMURA/ED JONES/AFP/Getty Images

उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग-नम की हत्या का मामला उत्तर कोरिया और मलेशिया के बीच गले की फांस बन गया है.

दोनों देशों के कूटनीतिक झगड़े में उस वक्त एक नया मोड़ आ गया जब उत्तर कोरिया ने अपने यहां मौजूद मलेशियाई लोगों के देश छोड़ने पर रोक लगा दी.

जवाब में मलेशिया ने भी उत्तर कोरियाई दूतावास के लोगों को देश न छोड़ने के लिए कहा है. मलेशिया की दलील है, 'ऐसा किए जाने की ज़रूरत' है.

मलेशिया ने उत्तर कोरिया के राजदूत को निकाला

किम जोंग हत्या: दो महिलाओं पर मुक़दमा चलेगा

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
हत्या में रासायनिक ज़हर का इस्तेमाल

इस विवाद की शुरुआत पिछले महीने उस वक्त हुई जब किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नम की हत्या की मलेशिया में जांच से उत्तर कोरिया भड़क गया.

हालांकि मलेशिया ने इस हत्या के लिए उत्तर कोरिया की सरकार को सीधे तौर पर ज़िम्मेदार नहीं ठहराया, लेकिन शक की सुई हर तरफ़ से प्योंगयांग की तरफ़ जा रही थी.

लेकिन उत्तर कोरिया ने इन आरोपों को ज़ोरदार तरीके से ख़ारिज किया और मलेशिया पर ठीक से जांच न करने का आरोप लगाया.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
किम जॉन्ग नम की मौत का रहस्य

क्या है ये VX नर्व एजेंट रसायन ?

जोंग नम की हत्या में दूतावास अधिकारी की तलाश

मलेशिया ने उत्तर कोरिया से अपना राजदूत बुलाया

अपने भाई का शव क्यों नहीं मांग रहे हैं किम

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)