रेप को भुलाकर शरीर दोबारा सहज हो सकता है?

  • 10 मार्च 2017
सेक्स इमेज कॉपीरइट Thinkstock

रेप पीड़ितों के लिए सेक्स आसान नहीं होता है. जब वे सहज होने की कोशिश करती हैं तो उनकी स्मृतियों से अतीत का वह वाकया मिटता नहीं है.

सेक्स के दौरान उनके मन में वो यादें आतीं हैं तो वे फिर से उसी अतीत में चली जाती हैं. हम यहां बता रहे हैं कि रेप पीड़ितों के लिए सुख पाना कितना मुश्किल है.

मेक्सिको के एदेलमीरा कार्देनास का कहना है कि पहले यौन संबंध के बाद उनकी ज़िंदगी पूरी तरह से बदल गई, उन्होंने बीबीसी को बताया कि सब कुछ किशोरावस्था में शुरू हुआ था. जब उनके रिश्ते के एक बड़े भाई ने उन्हें बेहोशी की दवा पिलाकर उनके साथ रेप किया.

'मेरा महीनों तक हर दिन रेप होता रहा'

सेक्स में चरम सुख की कुंजी क्या है?

सेक्स से जुड़े सवालों का यहां है जवाब

उन्होंने कहा, ''मेरा शरीर सुन्न हो गया पर मैं पूरी तरह बेहोश नहीं हुई थी.''

इमेज कॉपीरइट Thinkstock
Image caption रेप झेलने वाली महिलाओं के लिए सेक्स में सुख आसान नहीं

किशोरावस्था में अपने साथ हुए रेप की बात एदेलमीरा ने अपने पार्टनर को भी नहीं बताई जिसके साथ उन्होंने 18 साल की उम्र में डेटिंग शुरू की थी.

एदेलमीरा ने कहा, ''मैं अपने पार्टनर को भी अपना शरीर छूने नहीं देती थी. हम यौन संबंध नहीं बना पाते थे.''

फिर एदेलमीरा ने नौकरी शुरू कर दी क्योंकि वह ख़ुद को सामाजिक कार्यों में लगाना चाहता थी. एदेलमीरा को वहां भी यौन प्रताड़ना का सामना करना पड़ा. वो लगातार कामुक साहित्य पढ़ती रही, नारीवाद के बारे में पढ़ती रही और महिलाओं से बात करती रही.

सेक्स थेरेपिस्ट लुज़ जेम्स एदेलमीरा जैसे कई मामले देख चुके हैं. वो लैटिन अमरीकन फेडरेशन ऑफ सोसायटी ऑफ सेक्सोलॉजी एंड सेक्सुअल एडुकेशन के सचिव हैं.

वो बताते हैं, 'यौन प्रताड़ना के बाद यौन रोग वाली महिलाओं का हमारे पास आना आम बात है. किशोरावस्था में इनके साथ ऐसा होता है तो ये तत्काल आती हैं. वयस्क महिलाएं भी आती हैं क्योंकि उन्हें सेक्स में दिक़्क़्त होती है. इसी दौरान हमें अहसास होता है कि ये यौन उत्पीड़न की शिकार हुई हैं.'

विशेषज्ञों के मुताबिक इन्हें मनोचिकित्सा की ज़रूरत होती है. उन्होंने कहा, ''ज़्यादातर कई समस्याओं से पीड़ित होती हैं. इन्हें इच्छा नहीं होती. इन्हें संभोग के दौरान काफी तकलीफ होती है.''

अमारा को किशोरावस्था में यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा था. 43 साल की हो चुकी इस महिला को उसके सौतले पिता ने प्रताड़ित किया था, तब वह महज आठ साल की थीं. उन्होंने कहा कि सेक्स के दौरान वह इस वाकये को याद नहीं करना चाहतीं. उन्होंने कहा कि उस उत्पीड़न की याद के साथ सेक्स मुश्किल है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे