ट्रंप टावर के फ़ोन टैप किए जाने का दावा ख़ारिज

  • 17 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका में सीनेट की ख़ुफ़िया मामलों की कमेटी ने राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के ट्रंप टावर में फ़ोन टैपिंग कराने के आरोप को ख़ारिज कर दिया है.

डोनल्ड ट्रंप ने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के नेतृत्व वाले प्रशासन पर चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप टावर के टेलीफ़ोन टैप कराने का आरोप लगाया था.

इस कमेटी का कहना है कि ट्रंप टावर पर चुनाव से पहले या बाद में निगरानी रखे जाने के संकेत नहीं मिले हैं.

सीनेट की ख़ुफ़िया मामलों की कमेटी के अध्यक्ष रिपब्लिकन सीनेटर रिचर्ड बर्र के बयान में डोनल्ड ट्रंप के फोन टैप किए जाने के आरोप को ख़ारिज कर दिया गया है.

ओबामा पर ट्रंप के आरोप को एफबीआई चीफ ने 'नकारा'

ओबामा ने पद का दुरुपयोग किया, जाँच हो: ट्रंप

इससे पहले गुरुवार को हाउस ऑफ़ रिप्रेज़न्टेटिव के स्पीकर पॉल रायन भी फ़ोन टैपंग के आरोप को नकार कर चुके हैं.

एक प्रेस वार्ता में पॉल रायन ने कहा, " रूस के मामले में ख़ुफ़िया कमेटियों की जांच जारी है, इसका दायरा भी बढ़ा है और जांच मामले की तह तक गई है. अभी तक तो यही पता चला है कि कोई फ़ोन टैपिंग नहीं हुई है. "

ख़ुफ़िया मामलों की कमेटी के अध्यक्ष रिपब्लिकन नेता डेविन न्यून्य ने बुधवार को कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि वाक़ई ट्रंप टावर में कोई टैपिंग की गई है.

हालांकि फ़ॉक्स न्यूज़ को दिए एक इंटरव्यू में डोनल्ड ट्रंप ने कहा था कि फ़ोन टैपिंग के दायरे में कई तरह की चीज़ें शामिल हैं.

ट्रंप ने कहा था, "फ़ोन टैपिंग में कई अलग-अलग चीज़ें शामिल हैं. मुझे लगता है कि आने वाले दो हफ़्तों में कुछ दिलचस्प बातें सामने आएंगी. "

ट्रंप के आरोप को अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा भी खारिज कर चुके हैं.

व्हाइट हाउस ने अभी तक राष्ट्रपति ट्रंप के दावों के समर्थन में कोई सबूत पेश नहीं किया है, बल्कि अमरीकी कांग्रेस से पिछले साल के चुनाव में कथित रूसी हस्तक्षेप की जांच के दायरे में इस आरोप को भी शामिल करने को कहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे