मारा गया फ्रांस के एयरपोर्ट का हमलावर

  • 19 मार्च 2017
फ्रांस के एयरपोर्ट पर सैनिक पर हमला इमेज कॉपीरइट AP

फ्रांसीसी सुरक्षा बलों ने पेरिस के ओर्ली एयरपोर्ट पर तैनात एक सैनिक की बंदूक छीनने की कोशिश कर रहे एक व्यक्ति को मार गिराया है.

अधिकारियों के मुताबिक ज़ियेद बेन बेलगासेम नाम के इस शख्स ने एक सुरक्षाकर्मी पर ये कहते हुए हमला किया कि वो ''अल्लाह के लिए मरना'' चाहता है.

इससे पहले शनिवार को 39 साल के ये व्यक्ति पेरिस क्षेत्र में हुई गोलीबारी और कार चुराने की घटना में शामिल थे.

अभियोजकों ने इनके ख़िलाफ़ जांच शुरू कर दी है. कहा जा रहा है कि बेन बेलगासेम कट्टरपंथ से प्रभावित हो गए थे और पुलिस उनपर निगरानी रख रही थी.

फ्रांसीसी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेलगासेम के ख़िलाफ़ आपराधिक मामलों से जुड़े होने के रिकॉर्ड हैं और सशस्त्र डकैती के मामलों में उन्हें दोषी भी ठहराया गया था.

हमले की ये घटना एक संवेदनशील समय में हुई है. अगले महीने फ़्रांस में राष्ट्रपति चुनावों की शुरुआत होने जा रही है और देश में आपातकाल भी लागू है.

इमेज कॉपीरइट EPA

ओर्ली एयरपोर्ट पर तैनात सैनिक ऑपरेशन सेंटिनेल का हिस्सा थे. इस ऑपरेशन के तहत जनवरी 2015 में शार्ली एब्दो अख़बार पर हुए हमले और नवंबर 2015 में पेरिस पर हुए हमलों के बाद हज़ारों सैनिकों को पुलिस की मदद के लिए तैनात किया गया है.

घटनाक्रम

शनिवार की सुबह बेन बेलगासेम को उनकी रिहाइश के उत्तरी पेरिस के इलाके में एक नाके पर रोका गया.

रोके जाने पर उसने पुलिस पर पैलेट गन से हमला किया और फिर एक कार में सवार हो फ़रार हो गया. वो कार बाद में लावारिस पड़ी मिली.

पुलिस का कहना है कि उसके बाद दक्षिणी फ़्रांस के विट्री इलाके में एक महिला को बंदूक दिखाकर उनकी कार चुरा ली. ये कार बाद में ओर्ली एयरपोर्ट पर खड़ी मिली.

बेन बेलगासेम हाथ में ईंधन का एक कंटेनर लिए एयरपोर्ट पहुंचे और गश्ती सेना के पास जाकर उन्होंने कहा, "मैं यहां अल्लाह के लिए मरने आया हूं."

उसके बाद उन्होंने एक महिला सैनिक से हथियार छीनने की कोशिश की जिसके बाद दो अन्य सैनिकों ने उन्हें गोली मार दी.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कुछ मुसाफ़िर हमले की ख़बर सुनकर सदमे में थे

उनके पास से एक लाइटर, एक पैकेट सिगरेट, क़ुरान की एक प्रति और साढ़े सात सौ यूरो नकद बरामद हुआ.

बाद में उनके घर की तलाशी लेने पर कोकीन भी बरामद हुई. उनके पिता और भाई को हिरासत में ले लिया गया है जो कि संदिग्ध चरमपंथी हमलों में उठाया जानेवाला एक सामान्य कदम है.

इस घटना के बाद कई विमानों को निलंबित कर दिया गया और कइयों को डाइवर्ट कर दिया गया.

बाद में एयरपोर्ट के दोनों टर्मिनलों को खोल दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे